Question Answer of Do Bailon Ki Katha Class 9

Question Answer of Do Bailon Ki Katha Class 9

NCERT Solutions of Do Bailon Ki Katha Class 9 Hindi Kshitij Bhag 1 Chapter 1 , Question Answer of Do Bailon Ki Katha Class 9, दो बैलों की कथा पाठ के प्रश्न उत्तर।

Question Answer of Do Bailon Ki Katha Class 9

दो बैलों की कथा पाठ के प्रश्न उत्तर

Note – दो बैलों की कथा पाठ का सारांश पढ़ने के लिए Link में Click करें – Next Page 

“दो बैलों की कथा” पाठ का सारांश हमारे YouTube channel  में देखने के लिए इस Link में Click करें। YouTube channel link – ( Padhai Ki Batein / पढाई की बातें)

प्रश्न 1.

कांजीहौस में कैद पशुओं की हाज़िरी क्यों ली जाती होगी ?

उत्तर-

कांजीहौस वह जगह होती थी जहां पर आवारा पशुओं को पकड़ कर रखा जाता था। और उन सारे पशुओं का ध्यान रखने की जिम्मेदारी कांजीहौस के मालिक की होती थी। जानवरों की संख्या की सही जानकारी रखने के लिए वह रोज पशुओं की हाजिरी लेता था। ताकि उसे मृत या भागे हुए पशुओं की जानकारी मिलती रहे। 

प्रश्न 2.

छोटी बच्ची को बैलों के प्रति प्रेम क्यों उमड़ आया ?

उत्तर-

वह छोटी बच्ची भैंरो की बेटी थी जिसकी माँ मर चुकी थी। और सौतेली माँ उसके साथ बुरा बर्ताव करती थी। जब उसने देखा कि गया उनसे दिनभर खेतों में खूब काम करवाता हैं। जरा सी गलती होने पर मारता-पीटता हैं । और खाने के लिए सिर्फ सूखा भूसा ही देता हैं।

छोटी बच्ची को लग रहा था कि उसकी और बैलों की स्थिति एक जैसी है।इसीलिए हीरा और मोती के लिए उसके दिल में दया की भावना पैदा हुई। 

प्रश्न 3.

कहानी में बैलों के माध्यम से कौन-कौन से नीति-विषयक मूल्य उभर कर आए हैं?

उत्तर-

इस कहानी के माध्यम से निम्नलिखित नीतिविषयक मूल्य उभरकर सामने आए हैं। 

  1. मनुष्य को अपने अधिकारों और अपनी स्वतंत्रता प्राप्ति के लिए आखरी दम तक प्रयास करना चाहिए।
  2. अन्याय और अत्याचार करना अगर पाप है तो उसे सहना उससे भी बड़ा पाप है। 
  3. कैसा भी कठिन समय क्यों ना हो। अपने मित्र जनों का साथ कभी नहीं छोड़ना चाहिए। 
  4. समस्या कितनी भी गंभीर क्यों ना हो।गंभीरता पूर्वक सोच समझकर व आपस में मिलकर बैठ कर उसका हल निकाला जा सकता है। 
  5. एकता में ताकत होती है। 

प्रश्न 4.

प्रस्तुत कहानी में प्रेमचंद ने गधे की किन स्वभावगत विशेषताओं के आधार पर उसके प्रति रूढ़ अर्थ ‘मूर्छ प्रयोग न कर किस नए अर्थ की ओर संकेत किया है?

उत्तर-

मुंशी प्रेमचंद कहते हैं कि गधा स्वभाव से सरल , सीधा , धैर्यवान , सहनशील और क्रोध रहित होता है। उसे सुख-दुख , लाभ-हानि या किसी अन्य चीज से कोई फर्क नहीं पड़ता। यानि वह हमेशा एक समान रहता है। इसीलिए प्रेमचंद उसे संत कहते हैं। दरअसल अपने इसी स्वभाव के कारण गधा कभी भी सम्मान का पात्र नहीं रहा। 

प्रश्न 5.

किन घटनाओं से पता चलता है कि हीरा और मोती में गहरी दोस्ती थी?

उत्तर-

मोती और हीरा की गहरी दोस्ती का निम्न घटनाओं से पता चलता है।

  1. कभी वह एक दूसरे को चाट कर , तो कभी एक दूसरे को सुंधकर या फिर कभी-कभी सींग भिड़ा कर अपना प्रेम एक दूसरे के लिए प्रकट करते थे। 
  2. जब दोनों एक-साथ गाड़ी या हल में जोते जाते थे तो , उन दोनों की कोशिश यही रहती थी कि ज्यादा भार उसके कंधे पर आये।
  3. जब गया ने हीरा की नाक पर डंडा मारा तो मोती को यह बात सहन नहीं हुई । वह हल , रस्सी , जुआ , जोत लेकर भाग खड़ा हुआ। 
  4. विशालकाय साँड से दोनों ने बराबर मुकाबला किया। 
  5. मटर खाते हुए जब लोगों ने मोती को पकड़ा लिया।तो हीरा उसे अकेला छोड़कर भागा नहीं। बल्कि वापस आकर मोती के साथ बंधक बन गया।
  6. काँजीहौस की दीवार के टूट जाने पर मोती के पास भागने का सुनहरा अवसर था। लेकिन वह भागने के बजाय हीरा के साथ वहीं पर बैठा रहा।

प्रश्न 6.

“लेकिन औरत जात पर सींग चलाना मना है , यह भूल जाते हो”। हीरा के इस कथन के माध्यम से स्त्री के प्रति प्रेमचंद के दृष्टिकोण को स्पष्ट कीजिए।

उत्तर-

प्रेमचंद का दृष्टिकोण साफ है कि वो नारी जाति का सम्मान करते थे। हीरा और मोती दोनों के माध्यम से प्रेमचंद जी ने समाज को यह संदेश देने की कोशिश की है कि महिलाओं पर किसी भी तरह का अत्याचार नहीं किया जाना चाहिए। महिलाओं का समाज में सदा सम्मान करना चाहिए। तभी एक सभ्य समाज का निर्माण हो सकता है। और यही सभ्य समाज और सभ्य लोगों की पहचान भी है कि वो महिलाओं का सदा आदर व सम्मान करें। 

प्रश्न 7.

किसान जीवन वाले समाज में पशु और मनुष्य के आपसी संबंधों को कहानी में किस तरह व्यक्त किया गया है ?

उत्तर-

किसान जीवन में पशु और किसान एक दूसरे के पूरक होते हैं। इसीलिए उनके आपसी संबंध बहुत गहरे , आत्मीय व मजबूत होते हैं।इसी बात को प्रेमचंद्र जी ने अपनी “दो बैलों की कथा” के माध्यम से बहुत खूबसूरती से वर्णन किया है।

इस कहानी के जरिए उन्होंने बताया है कि पशु भी प्रेम , अपमान और क्रोध की भाषा समझते हैं। वो भी प्रेम के बदले प्रेम लौटाना जानते हैं। किसान के जीवन में पशु भी उनके घर के सदस्य की भाँति होते हैं। जो उनके जीवन को सुचारु रूप से चलाने में मदद करते हैं। 

प्रश्न 8.

“इतना तो हो ही गया कि नौ दस प्राणियों की जान बच गई। वे सब तो आशीर्वाद देंगें”। मोती के इस कथन के आलोक में उसकी विशेषताएँ बताइए।

उत्तर-

मोती के इस कथन से निम्न बातों का पता चलता है।

  1. वह स्वभाव से दयालु व परोपकारी हैं।
  2. वह आशावादी भी है। इसीलिए उसे लगता है कि उनके आशीर्वाद से वह भी एक दिन इस कैद से बाहर निकल जाएगा। 
  3. उसने दीवार तोड़कर पहले स्वयं भागने के बजाय और जानवरों को भागने का मौका दिया। इससे पता चलता है कि वह स्वार्थी भी नहीं था। 

प्रश्न 9.

आशय स्पष्ट कीजिए

(क)

अवश्य ही उनमें कोई ऐसी गुप्त शक्ति थी , जिससे जीवों में श्रेष्ठता का दावा करने वाला मनुष्य वंचित है।

उत्तर-

अपने आप को पढ़ा लिखा व सभी प्राणियों में श्रेष्ठ मानने वाला इंसान , कभी कभी दूसरे इंसान की बातों का अर्थ भी सही से नहीं समझ पाता है। जबकि जानवर होकर भी हीरा और मोती अक्सर इशारों में ही बातें करते थे और एक दूसरे की मन की बातों को आसानी से समझ जाते थे। 

(ख)

उस एक रोटी से उनकी भूख तो क्या शांत होती , पर दोनों के हृदय को मानो भोजन मिल गया।

उत्तर-

गया उनको लगातार मारता-पीटता , भूखा रखता और उनका अपमान करता था जिससे वे दोनों बहुत दुखी थे।वो अपने आप को अपमानित महसूस कर रहे थे। उस नन्ही बालिका के द्वारा प्रेमपूर्वक खिलायी एक रोटी से उनका पेट वाकई में नहीं भर सकता था।लेकिन गया के घर में पहली बार उनके साथ किसी ने प्रेम पूर्वक व्यवहार किया था जिससे उनके दिल को बहुत सुकून मिला। 

प्रश्न 10.

गया ने हीरा-मोती को दोनों बार सूखा भूसा खाने के लिए दिया क्योंकि

(क) गया पराये बैलों पर अधिक खर्च नहीं करना चाहता था।

(ख) गरीबी के कारण खली आदि खरीदना उसके बस की बात न थी।

(ग) वह हीरा-मोती के व्यवहार से बहुत दुखी था।

(घ) उसे खली आदि सामग्री की जानकारी न थी।

(सही उत्तर के आगे (✓) का निराश लगाइए।)

उत्तर-

(ग) वह हीरा-मोती के व्यवहार से दुखी था।

रचना और अभिव्यक्ति

(Question Answer of Do Bailon Ki Katha Class 9)

प्रश्न 11.

हीरा और मोती ने शोषण के खिलाफ आवाज़ उठाई लेकिन उसके लिए प्रताड़ना भी सही। हीरा-मोती की इस प्रतिक्रिया पर तर्क सहित अपने विचार प्रकट करें।

उत्तर-

हीरा-मोती ने शोषण के खिलाफ अपने कार्यों के द्वारा अपनी आवाज हर जगह बुलंद की। जब गया ने उनको मारा-पीटा और उनका अपमान किया तो उन्होंने विरोध स्वरूप हल जोतने से मना कर दिया। इसी तरह कांजीहौस में भी जब उन पर अन्याय हुआ और उन्हें खाने-पीने को कुछ नहीं दिया गया तो उन्होंने उसका पुरजोर विरोध किया।

हमारे ख्याल से हीरा मोती ने सही किया क्योंकि अपने अधिकारों व अन्याय के खिलाफ आवाज बुलंद करना आवश्यक है। अगर आप चुप रहेंगे तो लोग आपको दबाते रहेंगे , आपके अधिकारों का हनन करते रहेंगे और जुल्म ढाते रहेंगे। इसीलिए अपने हक के लिए आवाज उठाना आवश्यक हैं। 

प्रश्न 12.

क्या आपको लगता है कि यह कहानी आजादी की लड़ाई की ओर भी संकेत करती है?

उत्तर-

हाँ बिल्कुल , यह कहानी प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से स्वतंत्रता से ही जुड़ी हैं।चाहे इंसान हो या जानवर , सभी को आजादी प्रिय होती है। कोई भी गुलाम बन कर नहीं जीना चाहता।

इस कहानी में मुंशी प्रेमचंद ने हीरा और मोती का आजादी के लिए संधर्ष , के माध्यम से यही बताने की कोशिश की है कि जिस तरह उन्होंने अपनी आजादी पाने के लिए अनेक और लगातार प्रयास किए , कई मुसीबतों झेली और अंततः आजादी प्राप्त की।

ठीक इसी तरह भारत भी जब अंग्रेजों का गुलाम था। तब हमारे देश के अनेक वीर सपूतों ने अपनी आजादी के लिए अनेक बार अंग्रेज सरकार से टक्कर ली , उनसे संघर्ष किया। इस दौरान कई बार उनको जेल की यात्राएं भी करनी पड़ी , अनेकों कष्ट सहन करने पड़े लेकिन अंततः उन्होंने भारत को आजाद कर दिया। 

भाषा अध्ययन

(Question Answer of Do Bailon Ki Katha Class 9)

प्रश्न 13.

बस इतना ही काफ़ी है।

फिर मैं भी ज़ोर लगाता हूँ।

‘ही’, ‘भी’ वाक्य में किसी बात पर जोर देने का काम कर रहे हैं। ऐसे शब्दों को निपात कहते हैं। कहानी में से पाँच ऐसे वाक्य छाँटिए जिनमें निपात का प्रयोग हुआ हो।

उत्तर-

“ही” शब्द से जुड़े पाँच वाक्य

  1. दोनों साथ ही उठते , साथ नाँद में मुँह डालते और एक साथ ही बैठते थे।
  2. एक ही विजय ने उसे संसार की सभ्य जातियों में गण्य बना दिया।
  3. अवश्य ही उनमें कोई ऐसी गुप्त शक्ति थी। जिससे जीवों में श्रेष्ठता का दावा करने वाला मनुष्य वंचित है।
  4. इतना तो हो ही गया कि नौ दस प्राणियों की जान बच गई। वे सब तो आशीर्वाद देंगें
  5. अभी चार ही ग्रास खाये थे कि दो आदमी लाठियों लिये दौड़ पड़े। 

“भी” शब्द से जुड़े पाँच वाक्य

  1. गांव के इतिहास में यह घटना अभूतपूर्व ना होकर भी महत्वपूर्ण थी। 
  2. झूरी इन्हें फूल की छड़ी से भी न छूता था। 
  3. चार बातें सुनकर गम खा जाते हैं फिर भी बदनाम है। 
  4. गधे का एक छोटा भाई और भी है।
  5. एक मुँह हटाता तो दूसरा भी हटा लेता था।

प्रश्न 14.

रचना के आधार पर वाक्य भेद बताइए तथा उपवाक्य छाँटकर उसके भी भेद लिखिए ?

(क) दीवार का गिरना था कि अधमरे-से पड़े हुए सभी जानवर चेत उठे

उत्तर-

यहाँ संयुक्त वाक्य है और संज्ञा उपवाक्य है। 

(ख)  सहसा एक दढ़ियल आदमी, जिसकी आँखे लाल थीं और मुद्रा अत्यंत कठोर, आया

उत्तर-

यहाँ मिश्रवाक्य हैं और विशेषण उपवाक्य हैं

(ग) हीरा ने कहा-गया के घर से नाहक भागे।

उत्तर-

यहाँ मिश्रवाक्य हैं और संज्ञा उपवाक्य हैं।

(घ) मैं बेचूंगा, तो बिकेंगे।

उत्तर-

यहाँ संयुक्त वाक्य हैं और क्रियाविशेषण उपवाक्य। 

(ङ)

अगर वह मुझे पकड़ता तो मैं बे-मारे न छोड़ता।

उत्तर-

यहाँ संयुक्त वाक्य हैं और क्रियाविशेषण उपवाक्य हैं।

प्रश्न 15.

कहानी में जगह-जगह मुहावरों का प्रयोग हुआ है। कोई पाँच मुहावरे छाँटिए और उनका वाक्यों में प्रयोग कीजिए।

उत्तर-

  1. जी तोड़ काम/मेहनत करना (बहुत अधिक परिश्रम करना) – मैं अपनी बैंक की परीक्षा में सफल होने के लिए जी तोड़ मेहनत कर रहा हूं। 
  2. टकटकी लगाना (लगातार देखते रहना ) – मैं खाना खा रहा था तो वह भूखा भिखारी मेरी तरफ टकटकी लगाए बड़ी हसरत भरी नजरों से देख रहा था।
  3. ईंट का जवाब पत्थर से देना (पूरी कोशिश से पलटवार करना) – कारगिल युद्ध में भारतीय सैनिकों ने पाकिस्तानी सैनिकों की ईंट का जवाब पत्थर से दिया
  4. हिम्मत हारना(निराश होना ) – असफल हुआ तो क्या हुआ। मैं हिम्मत हारने वालों में से नहीं हूं। मैं तुम्हें सफल होकर ही दिखाऊंगा।
  5.  जान से हाथ धोना (मृत्यु को प्राप्त होना) –  इस चोटी में चढ़ना काफी कठिन काम है। जरा सी चूक हुई नहीं कि जान से हाथ धोना पड़ेगा। 

Question Answer of Do Bailon Ki Katha Class 9 :दो बैलों की कथा पाठ के प्रश्न उत्तर। 

You are most welcome to share your comments . If you like this post . Then please share it . Thanks for visiting.

यह भी पढ़ें……

गद्य खंड

दो बैलों की कथा पाठ के प्रश्न उत्तर कक्षा 9 

दो बैलों की कथा पाठ का सारांश कक्षा 9

Lhasa Ki Aur Class 9 Summary 

Question Answers of Lhasa Ki Aur Class 9

Question Answers Of Upbhoktavad ki Sanskriti Class 9 

Upbhoktavad Ki Sanskriti Class 9 Summary (उपभोक्तावाद की संस्कृति सारांश )

Question Answers Of Sanwale Sapno Ki Yaad Class 9

Sanwale Sapno Ki Yaad Class 9 Summary

Question Answers Of Nana Saheb Ki Putri Devi Maina Ko Bhasm Kar Diya Class 9

Nana Saheb Ki Putri Devi Maina Ko Bhasm Kar Diya Class 9 Summary

Question Answers Of Premchand ke Phate Jute Class 9

Premchand Ke Phate Jute Class 9 Summary

Mere Bachpan Ke Din Class 9 Summary

Mere Bachpan Ke Din Class 9 Question Answer

Ek Kutta Aur Ek Maina Class 9 Summary 

Ek Kutta Aur Ek Maina Class 9 Question Answers

काव्य खंड –

Sakhiyan Avam Sabad Class 9 Full Explanation

Sakhiyan Avam Sabad Class 9 Question Answers

Full Explanation Of vaakh (वाख) Class 9

Question Answer Of vaakh (वाख) Class 9

Gram Shree Class 9 Question Answer

Gram Shree Class 9 Explanation 

Kaidi Aur Kokila Class 9 Question Answer

Kaidi Aur Kokila Class 9 Full Explanation

Raskhan Ke Savaiye Class 9 Question Answers

Raskhan Ke Savaiye Class 9 Explanation

Bachche Kam Par Ja Rahe Hain Class 9 

Yamraj Ki Disha Class 9 Explanation 

Megh Aaye Class 9 Question Answer

Chandra Gahna Se Lautati Ber Class 9 Question Answer

Chandra Gahna Se Lautati Ber Class 9 Explanation And Summary

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *