Gazal Class 11 Question Answer : गजल के प्रश्न उत्तर

Gazal Class 11 Question Answer ,

Gazal Class 11 Question Answer Hindi Aaroh 1 chapter 7 , गजल कक्षा 11 के प्रश्न उत्तर हिन्दी आरोह 

Gazal Class 11 MCQS 

गजल कक्षा 11 के MCQ

Note  –

गजल के भावार्थ को पढ़ने के लिए Link में Click करें – Next Page

  1. “साये में धूप” गजल के कवि कौन हैं – दुष्यंत कुमार जी
  2. “साये में धूप” ग़ज़ल को दुष्यंत कुमार जी के किस ग़ज़ल संग्रह से लिया गया हैं –  साये में धूप
  3. “साये में धूप” में किस शैली का प्रयोग हुआ है – गजल शैली
  4. कवि का सपना क्या था  –  एक सुखी , खुशहाल व समृद्ध भारत का
  5. “चिरागाँ” शब्द किसके लिए प्रयोग किया हैं – खुशहाली के लिए
  6. हर एक घर के लिए क्या तय किया गया था – चिरागाँ यानि खुशहाली
  7. चिराग किसके लिए उपलब्ध नहीं है – एक शहर के लिए
  8. किसके साए में धूप लगती है – पेड़ों के (दरख्तों के)
  9. “मयस्सर” किस भाषा का शब्द है – उर्दू भाषा
  10. कवि समाज में परिवर्तन के लिए किसे आवश्यक मानता है – जनता की आवाज को
  11. निराश व्यक्ति के लिए क्या जरूरी है – आशा की एक किरण
  12. कमीज न होने पर गरीब इंसान अपना पेट किस से ढक लेता है – पांवों से
  13. कवि किसे अपनी जुबान सिलने को कहता है – कवियों और शायरों को
  14. कवि किसके कारण अपनी जुबान सिलने की बात कहता है – भ्रष्ट शासक वर्ग या सत्तावर्ग के कारण
  15. अपने ऊपर हो रहे अत्याचारों के लिए जनता को क्या करना चाहिए – विरोध करना चाहिए
  16. कौन जनता की आवाज को दबाने की कोशिश करता है – भ्रष्ट शासक वर्ग या सत्ताधारी लोग
  17. किनको विश्वास हो चुका है कि अब समस्याएं कभी समाप्त नहीं होंगी – पीड़ित व शोषित आम जनता को
  18. गुलमोहर में क्या विद्यमान है – प्रतीकात्मकता
  19. “गुलमोहर” शब्द किस चीज के लिए प्रयोग किया गया है – व्यक्ति के आत्म सम्मान व स्वाभिमान के लिए
  20. सुख न मिलने पर मनुष्य को क्या करना चाहिए – सुंदर सपने देखने चाहिए
  21. “वे मुतमइन हैं कि पत्थर पिघल नहीं सकता” में “मुतमइन” का क्या अर्थ है – आश्वस्त होना
  22. “मैं बेकरार हूं आवाज में असर के लिए” में कवि किसके खिलाफ जनता को जागरूक करना चाहते है –  भ्रष्ट शासक वर्ग / सत्ताधारी लोगों के खिलाफ
  23. कवि ने किसे प्रेम , क्षमा , दया , त्याग आदि गुणों से संपन्न माना है  – ईश्वर को
  24. आम जनता आवाज उठाने और विरोध करने की अपेक्षा क्या करती है – शासक वर्ग के अन्याय को चुपचाप सहती है।
  25. “तेरा निजाम है सिल दे जुबान शायर की” में “निजाम” का अर्थ क्या है – शाशन
  26. कवि कितने समय के लिए इस समाज को छोड़कर भाग जाना चाहते हैं – उम्र भर के लिए
  27. बहर किसे कहते हैं – गजल के छंद को
  28. “पत्थर पिघल नहीं सकता” में “पत्थर” शब्द किसके लिए प्रयोग किया गया है – शासक वर्ग के लिए

Gazal Class 11 Question Answer

गजल कक्षा 11 के प्रश्न उत्तर

प्रश्न 1.

आखिरी शेर में गुलमोहर की चर्चा हुई है। क्या उसका आशय एक खास तरह के फूलदार वृक्ष से है या उसमें कोई सांकेतिक अर्थ निहित है ? समझा कर लिखें ?

उत्तर –

“साये में धूप” गजल के आखिरी शेर में “गुलमोहर” शब्द का प्रयोग किया गया है। सामान्यतः गुलमोहर चटक लाल फूलों वाला एक धना व छायादार पेड़ होता है। इस पेड़ के नीचे बैठकर लोग सुकून व आनंद महसूस करते हैं।

लेकिन दुष्यंत कुमारजी की इस ग़ज़ल में “गुलमोहर” शब्द का प्रयोग सांकेतिक रूप से किया गया है जिसका अर्थ व्यक्ति के स्वाभिमान या आत्मसम्मान से है। कवि कहते हैं कि व्यक्ति को सदैव अपने आत्मसम्मान व स्वाभिमान के साथ इस दुनिया में जीना चाहिए और अपने आत्मसम्मान के लिए अगर मरना भी पड़े तो कोई बात नहीं , खुशी – खुशी अपने प्राण न्यौछावर करने चाहिए।

प्रश्न 2.

पहले शेर में “चिराग” शब्द एक बार बहुवचन में आया है और दूसरी बार एकबचन में। अर्थ और काव्य सौंदर्य की दृष्टि से इसका क्या महत्व है ?

उत्तर

पहले शेर में “चिराग” शब्द एकवचन और बहुवचन दोनों रूपों में प्रयोग हुआ है। शेर की पहली पंक्ति के “चिरागाँ” शब्द का अर्थ है “भारत के प्रत्येक शहर व प्रत्येक घर में खुशियां से है”। जबकि दूसरी पंक्ति में “चिराग” शब्द का अर्थ है “सिर्फ एक शहर के लिए खुशियां से है”।

दरअसल अपने पहले शेर में कवि ने तत्कालीन सामाजिक व राजनैतिक व्यवस्था पर करारी चोट की हैं। आजादी के बाद जिस खुशहाल भारत का सपना भारतीयों ने देखा था , वह भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गया । कवि कहते हैं कि सत्ताधारी लोग तो सभी सुख सुविधाएं भोग रहे हैं मगर आम आदमी अपनी मूलभूत सुख सुविधाओं के लिए भी तरस रहा है।

प्रश्न 3.

गजल के तीसरे शेर को गौर से पढ़िए। यहां दुष्यंत का इशारा किस तरह के लोगों की ओर है ?

उत्तर –

गजल के तीसरे शेर में कवि दुष्यंत कुमार ने उन बेबस और मजबूर लोगों की ओर इशारा किया हैं जिन्होंने भ्रष्ट शासन व्यवस्था के खिलाफ लड़ना व बोलना छोड़ दिया है। और वर्तमान परिस्थितियों को अपना भाग्य समझकर उसके अनुसार अपने आप को ढाल लिया है।

हर परिस्थिति से समझौता कर उन्होंने जीवन में अपनी जरूरतों को बहुत ही सीमित कर दिया है। अपने अधिकारों व भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठाने के बजाय उन्होंने उसी के साथ समझौता कर जीना सीख लिया है।

प्रश्न 4.

आशय स्पष्ट करें ?

तेरा निजाम है सिल दे जुबान शायर की ,

ये एहतियात जरूरी है इस बहर के लिए। 

उत्तर –

उपरोक्त पंक्तियों में कवि कहते हैं कि जब भी कोई कवि या लेखक शासन की भ्रष्ट नीतियों के खिलाफ लोगो को जागरूक करने के लिए अपनी आवाज बुलंद करता हैं तो शाशन वर्ग उस कवि की जुबान बंद करने की कोशिश करता हैं। उसकी अभिव्यक्ति पर रोक लगा देता हैं।

इसीलिए कवि कहते हैं कि यह संभव हैं कि सत्ताधारी लोग अपनी सत्ता बचाये रखने के लिए मेरी जुबान बंद कर सकते हैं या मेरी अभिव्यक्ति की आजादी को छीन सकते हैं। कवि खुद मानते है कि इस सिस्टम को चलाए रखने के लिए ऐसी सावधानी करनी भी ठीक उसी प्रकार जरूरी है जैसे गजल के छंद (बहर) के लिए बंधन या मीटर की सावधानी करनी बहुत जरूरी होती है।

यानि गजल के छंद लिखने वक्त भी कई बातों का ध्यान रखना पड़ता हैं तब जाकर एक सुंदर व सधी हुई गजल बनती हैं।

प्रश्न 5.

दुष्यंत की इस ग़ज़ल का मिजाज बदलाव के पक्ष में है। इस कथन पर विचार कीजिए ?

उत्तर –

यह सच है कि दुष्यंत कुमार जी की यह गजल लोगों को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक करने , उनके मन में क्रांति की आग पैदा करने का संकेत देती है। भारत की आजादी के बाद देश वासियों ने एक समृद्ध और सुखी भारत का जो सपना देखा था वह पूरा नहीं हुआ । सुख सुबिधायें तो छोड़िए लोगों की मूलभूत आवश्यकतों की पूर्ति भी नही हो पायी हैं।

इसीलिए कवि लोगों को जगाकर इस भ्रष्ट शासन व्यवस्था को बदलना चाहते हैं। वो शासन की नीतियों के खिलाफ आवाज उठाना चाहते हैं। वो शोषित और अभावग्रस्त लोगों के जीवन को बदलना चाहते हैं। उनको उनके अधिकारों के प्रति जागरूक करना चाहते हैं। वो लोगों को इस भ्रष्ट शासन के खिलाफ खड़ा होने का आवाहन करते हैं।

Gazal Class 11 Question Answer

“गलता लोहा ” पाठ के सारांश को हमारे YouTube channel  में देखने के लिए इस Link में Click करें  ।   YouTube channel link – (Padhai Ki Batein / पढाई की बातें)

Note – Class 8th , 9th , 10th , 11th , 12th के हिन्दी विषय के सभी Chapters से संबंधित videos हमारे YouTube channel  (Padhai Ki Batein /पढाई की बातें)  पर भी उपलब्ध हैं। कृपया एक बार अवश्य हमारे YouTube channel पर visit कर हमें Support करें । सहयोग के लिए आपका बहुत – बहुत धन्यबाद।

You are most welcome to share your comments . If you like this post . Then please share it . Thanks for visiting.

यह भी पढ़ें……

कक्षा 11 हिन्दी आरोह भाग 1 

काव्यखण्ड 

कबीर के पद का भावार्थ 

कबीर के पद के प्रश्न उत्तर 

मीरा के पद का भावार्थ 

मीरा के पदों के प्रश्न उत्तर 

पथिक का भावार्थ 

पथिक पाठ के प्रश्न उत्तर

वे आँखें कविता का भावार्थ 

वे आँखें कविता के प्रश्न उत्तर 

घर की याद कविता का भावार्थ 

घर की याद कविता के प्रश्न उत्तर 

ग़ज़ल का भावार्थ 

गद्द्य खंड 

नमक का दारोगा कक्षा 11 का सारांश

नमक का दरोग के प्रश्न उत्तर 

मियाँ नसीरुद्दीन का सारांश 

मियाँ नसीरुद्दीन पाठ के प्रश्न उत्तर 

अपू के साथ ढाई साल पाठ का सारांश 

अपू के साथ ढाई साल के प्रश्न उत्तर

विदाई संभाषण पाठ का सारांश

विदाई संभाषण पाठ के प्रश्न उत्तर 

गलता लोहा पाठ का सारांश

गलता लोहा के प्रश्न उत्तर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *