Spiti Me Baarish Class 11 Question Answer : प्रश्नोत्तर

Spiti Me Baarish Class 11 Question Answer ,

Spiti Me Baarish Class 11 Question Answer Hindi Aroh 1 Chapter 6 , स्पीति में बारिश कक्षा 11 के प्रश्न उत्तर हिंदी आरोह 1 ,

Spiti Me Baarish Class 11 Question Answer

स्पीति में बारिश कक्षा 11 के प्रश्न उत्तर

Note –

  1. स्पीति में बारिश” पाठ के MCQS पढ़ने के लिए Link में Click करें – Next Page
  2. स्पीति में बारिश” पाठ का सारांश पढ़ने के लिए Link में Click करें – Next Page
  3. स्पीति में बारिश ” पाठ के सारांश को हमारे YouTube channel  में देखने के लिए इस Link में Click करें  ।   YouTube channel link – (Padhai Ki Batein / पढाई की बातें)

प्रश्न 1.

इतिहास में स्पीति का वर्णन नहीं मिलता हैं , क्यों ?

उत्तर –

स्पीति की दुर्गम भौगोलिक स्थिति व इसकी प्राकृतिक विशेषताओं के कारण यहां पर आमजन व पर्यटकों का पहुंच पाना काफी मुश्किल भरा हैं। प्राचीनकाल से ही ऊंचे – ऊंचे दर्रों व कठिनाइयों भरे रास्तों के कारण यहाँ पहुंचना किसी भी राजा व अंग्रजों के लिए अपने आप में बहुत बड़ा चुनौती भरा काम था। इसीलिए कोई भी राजा या अंग्रेज शाशक यहाँ जाने की हिम्मत नही करता था।

अति दुर्गम क्षेत्र होने के कारण आज तक भी स्पीति में परिवहन व आधुनिक संचार की सुविधायें नहीं पहुँच पायी हैं। संचार सुविधायें न होने और कड़ाके की ठण्ड व बर्फ पड़ने के कारण साल में आठ -नौ महीने यह क्षेत्र शेष दुनिया से कटा रहता हैं। यानि यह क्षेत्र शेष दुनिया के लिये एक अनजान स्थान हैं। यही कारण है कि इतिहास में स्पीति का वर्णन कही नहीं मिलता है।

प्रश्न 2.

स्पीति के लोग जीवन यापन के लिए किन कठिनाइयों का सामना करते हैं ?

उत्तर –

स्पीति के लोगों को अपना जीवन यापन करने के लिए हर दिन अनेक कठिनाई का सामना करना पड़ता है।

  1. मध्य हिमालय में मानसून न पहुंचने के कारण वहां पर बर्षा बहुत कम होती है। इसीलिए पूरे वर्ष में एक ही फसल होती है जिसमें दो किस्म का जौ , गेहूं , मटर और सरसों उगाई जाती है।
  2. वहां किसी तरह के फल की पैदावार नही होती हैं और नहीं पेड़ – पौधे व अन्य तरह की साग – सब्जी उगाई जा सकती हैं।
  3. साल में आठ -नौ महीने कड़ाके की ठण्ड व बर्फ पड़ने के कारण यह क्षेत्र शेष दुनिया से कटा रहता हैं।
  4. पेड़ -पौधे न होने से घरों को गर्म रखने के लिए जलावन की लकड़ी भी उपलब्ध नही होती हैं।
  5. सिंचाई की व्यवस्था न होने से उपजाऊ भूमि भी बेकार पडी हैं।
  6. यहाँ के लोग आधुनिक सुख सुबिधाओं से बंचित हैं। यहाँ तक कि यातायात व संचार के साधन भी अभी तक वहां नही पहुंच पाये हैं।
  7. लोगों के पास रोजगार का कोई साधन नही हैं।

प्रश्न 3.

लेखक “माने” श्रेणी का नाम बौद्धों के “माने मंत्र” के नाम पर करने के पक्ष में क्यों हैं ?

उत्तर –

हिमालय की इन शान्त व वीरान चोटियों में अनेक बौद्ध भिक्षुक योग साधना मुद्रा में लम्बे समय तक पवित्र “माने मंत्र” का जाप किया करते थे। इसलिए लेखक माने श्रेणी का नाम बौद्धों के “माने मंत्र” के नाम पर रखे जाने को तर्कसंगत ठहराते हैं।

प्रश्न 4.

“ये माने की चोटियों बूढ़े लामाओं के जाप से उदास हो गई है”।  इस पंक्ति के माध्यम से लेखक ने युवा वर्ग से क्या आग्रह किया है ?

अथवा  

लेखक स्पीति में किन्हें बुलाना चाहते हैं और क्यों ?

उत्तर-

माने की ऊंची -ऊंची पर्वत श्रेणियों में अनेक बुजुर्ग बौद्ध लामा निवास करते थे और वो हर वक्त बेहद शांत व गंभीर भाव में “माने” मंत्रों का जाप करते हुए अपनी साधना में लीन रहते थे । दीन- दुनिया के सुख दुःख व हर्षोउल्लास से उनको कोई मतलब नहीं रहता था जिसके कारण इन हिमाच्छादित चोटियों में भी एक गंभीरता और उदासी का वातावरण बन गया हैं ।

इसीलिए लेखक युवा पर्यटकों से आग्रह करते हैं कि वो इन पहाड़ियों पर आए और इन ऊंची -ऊंची चोटियों को लांघें , यहां के प्राकृतिक सौंदर्य का आनंद लें तथा अपने युवा जोश , उत्साह व हर्षोल्लास से इन चोटियों को गुंजायमान करें ताकि ये चोटियों अपनी गंभीरता और उदासी को छोड़कर फिर से जोशीली व प्रसन्न हो उठें।

Spiti Me Baarish Class 11 Question Answer

 प्रश्न 5.

वर्षा यहां एक घटना है , एक सुखद संयोग है। लेखक ने ऐसा क्यों कहा ?

अथवा 

स्पीति में बर्षा कितनी होती हैं ?

उत्तर –

स्पीति , मध्य हिमालयी क्षेत्र में बसा हैं और मध्य हिमालय में मानसून नही पहुंचता हैं जिस कारण स्पीति में बारिश कभी – कभार या नाममात्र की होती है। इसीलिए यहां के लोग वर्षा को शुभ मानते हैं या इसे सुखद संयोग मानते हैं ।

प्रश्न 6.

स्पीति अन्य पर्वतीय स्थलों से किस प्रकार भिन्न है ?

उत्तर –

कुछ पर्वतीय पर्यटक स्थल जैसे शिमला , मसूरी , नैनीताल , श्रीनगर , कुल्लू -मनाली आदि स्पीति से अनेक मामलों में भिन्न है। ये सभी पर्वतीय स्थल स्पीति की अपेक्षा कम ऊंचाई वाले स्थानों में स्थित है।

लेकिन स्पीति अत्यधिक ऊंचाई वाले दुर्गम स्थान में स्थित है जहां साल के 8 -9 महीने बर्फ जमा रहती हैं । संचार व परिवहन की आधुनिक सुख सुविधाएं अभी तक वहाँ नहीं पहुंच पायी हैं जिस कारण यहां के लोग शेष दुनिया से कटे हुए रहते हैं ।

स्पीति में वर्षा भी नाममात्र की होती है जिस वजह से वहाँ हरियाली , पेड़ -पौधे , फल – सब्जियों भी नहीं होती है। पहाड़ नंगे , विशाल व भव्य हैं जिस कारण लोगों को अनेक कठिनाइयों का सामना करना पड़ता हैं ।

जबकि अन्य पर्वतीय पर्यटक स्थलों में अलग -अलग तरह की साग – सब्जी , अनाज , फल – फूल , पेड़ पौधे भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। इन पर्यटक स्थलों में सभी प्रकार की आधुनिक सुख सुविधाएं भी मौजूद हैं जिस कारण वहाँ बड़ी संख्या में पर्यटकों का जमावड़ा लगा रहता हैं जिससे स्थानीय लोगों को रोजगार मिलता हैं। इन पर्वतीय पर्यटक स्थलों पर लोगों का जीवन स्पीति की अपेक्षा बहुत आसान हैं । 

प्रश्न 7.

लाहुल – स्पीति में आवागमन की क्या कठिनाइयां हैं ?

उत्तर –

भौगोलिक दृष्टिकोण से अति दुर्गम क्षेत्र होने के कारण लाहुल – स्पीति में सड़क मार्ग का निर्माण करना काफी कठिन है जिस कारण वहां यातायात के साधन नही पहुंच पाए हैं। एक स्थान से दूसरे स्थान में जाने के लिए उन्हें मजबूरी बस पैदल मार्ग से ही जाना पड़ता है जिस कारण लोगों को आवागमन में काफी कठिनाइयां का सामना करना पड़ता हैं। 

प्रश्न 8.

स्पीति में कितनी ऋतुओं होती हैं ?

उत्तर –

स्पीति में सिर्फ दो ही ऋतुओं होती हैं। एक अल्पकालिक बसंत जो जून से सितंबर तक चलता हैं। दूसरा शीत ऋतु यानी ठंड का मौसम जो आठ -नौ माह चलता हैं। जुलाई माह में यहां का औसत तापमान 15 डिग्री सेंटीग्रेड और जनवरी में करीबन 8 डिग्री सेंटीग्रेड रिकॉर्ड किया गया है यानि यहाँ कड़ाके की ठंड पड़ती है।

प्रश्न 9.

स्पीति नदी के पानी का , किसी काम न आने का क्या कारण है ?

उत्तर –

स्पीति नदी का तट काफी चौड़ा होने के कारण इसके पानी का सिंचाई या किसी अन्य काम में उपयोग नहीं हो पाता है।

प्रश्न 10.

स्पीति के लोग किसी आक्रमणकारी से अपनी सुरक्षा कैसे करते हैं ?

उत्तर –

स्पीति के लोग किसी बाहरी आक्रमणरी से अपनी रक्षा के लिए अप्रतिकार का तरीका अपनाते हैं। वो आक्रमणरियों से लड़ने के बजाय चाँग्मा का तना पकड़कर या एक-दूसरे को पकड़कर और आँख बंदकर एक जगह बैठ जाते हैं। आक्रमणकारी के वहाँ से चले जाने के बाद वापस अपने घर आ जाते हैं। परन्तु जोरावर सिंह के आक्रमण के वक्त स्पीति के लोग अपना घर छोड़कर ही भाग गए थे।

प्रश्न 11.

केलंग के बादशाह की समस्या क्या थी ?

उत्तर –

यातायात के साधन उपलब्ध न होने और कड़ाके की ठंड व बर्फ पड़ने के कारण केलंग के बादशाह का काजा जाकर वहां के कामकाज को देखना संभव नहीं था। इसीलिए उसे हर वक्त यह डर सताता रहता था कि कहीं काजा का सूबेदार उसकी अवज्ञा कर उसके खिलाफ बगावत न कर दे।

लेकिन वायरलेस संदेश भेजने के अलावा वह कुछ नहीं कर सकता था क्योंकि उसके लिए 170 मील दूर काजा आना – जाना संभव नहीं था।

प्रश्न 12.

स्पीति में कुछ लोगों के रहने से लेखक को आश्चर्य क्यों हुआ ?

उत्तर –

स्पीति में न तो संचार के साधन है और नहीं परिवहन के। बिजली या कोई और मूलभूत सुविधाएं भी वहां उपलब्ध नही हैं। दो किस्म का जौ और गेहूं के अलावा कोई अन्य अनाज , तथा सरसों और मटर के अलावा कोई और सब्जी वहां पैदा नहीं होती है।

रोजगार के कोई साधन नहीं है। यहां तक की घरों को गर्म रखने के लिए भी लकड़ी उपलब्ध नहीं है।फिर भी लोग वहाँ रहते हैं। इसी बात को लेकर लेखक आश्चर्यचकित थे।

Spiti Me Baarish Class 11 Question Answer

पाठ के आस पास 

 प्रश्न 1 .

स्पीति में बारिश का वर्णन एक अलग तरीके से किया गया है। आप अपने यहां होने वाली बारिश का वर्णन कीजिए ?

उत्तर –

मेरा निवास स्थान भी एक पर्वतीय पर्यटक स्थल में है। हमारे क्षेत्र में वर्षा ऋतु 4 महीने तक रहती है। वर्षा ऋतु के समय अक्सर आकाश में घने काले बादल छाए रहते हैं और समय – समय पर बिजली कड़कने के साथ – साथ बारिश होती रहती है।

वर्षा ऋतु की शुरुवात में रिमझिम बारिश की पहली बूदें जब तपती धरती पर पड़ती हैं तो मिट्टी की सोंधी सोंधी खुशबू से पूरा वातावरण महक उठता है। वर्षा ऋतु में चारों तरफ हरियाली ही हरियाली छा जाती है। वृक्षों में नई कलियां व पत्तियां निकल आती है। चारों तरफ हर्षोल्लास का वातावरण दिखाई देता है और प्राकृतिक सौन्दर्य देखते ही बनता हैं।

प्रश्न 2.

स्पीति के लोगों और मैदानी भाग में रहने वाले लोगों के जीवन की तुलना कीजिए ? किसका जीवन आपको अच्छा लगता है और क्यों ?

उत्तर –

स्पीति बहुत ही दुर्गम स्थान पर बसा है जहां पर आधुनिक भौतिक सुख सुविधाओं का अभाव है।  यातायात के साधन न होने के कारण वहां पहुंचना आसान नही है। मनुष्य की मूलभूत आवश्यकताएं जैसे फल फूल , साग -सब्जी व अलग -अलग किस्म के अनाज भी यहाँ के लोगों की पहुंच से दूर हैं। कड़ाके की ठंड में भी घरों को गर्म रखने के लिए जलावन की लकड़ी का न होना इनका जीवन और कठिन बनाता हैं। 

जबकि मैदानी भागों में रहने वाले लोगों के पास सभी सुख सुविधाएं मौजूद होती हैं। बिजली , पानी संचार व परिवहन के सभी साधन उनके घरों में ही उपलब्ध रहते हैं। दुनिया से उनका संपर्क हर वक्त बना रहता है जिस कारण उनका जीवन बहुत आसान हो जाता है।

मैदानी इलाकों में हर तरह की साग – सब्जियां , फल – फूल , पेड़ पौधे आदि उगाए जा सकते हैं। मैदानी इलाकों में बर्फबारी बिल्कुल नहीं होती है जिस वजह से कड़ाके की ठंड भी नही पड़ती है। 

इस तरह मैदानी इलाकों में रहने वाले लोगों का जीवन स्पीति में रहने वाले लोगों के जीवन से काफी आसान है। 

प्रश्न 3.

“स्पीति में बारिश” एक यात्रा वृतांत है। इसमें यात्रा के दौरान किए गए अनुभव व यात्रा स्थलों से जुड़ी विभिन्न जानकारियों का बारीकी से वर्णन किया गया है। आप भी अपनी किसी यात्रा का वर्णन लगभग 200 शब्दों में कीजिए ?

उत्तर-

इस साल की गर्मियों की छुट्टियों में मैंने अपने पूरे परिवार के साथ उत्तराखंड के एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल नैनीताल की यात्रा करने की योजना बनाई। छुट्टियां शुरू होते ही मैंने अपने पूरे परिवार के साथ नैनीताल जाने के लिए पहले बड़ोदरा (गुजरात) से काठगोदाम तक ट्रेन से यात्रा की क्योंकि ट्रेन नैनीताल तक नहीं जाती है।काठगोदाम से नैनीताल तक करीबन 30 किलोमीटर की यात्रा के लिए मैंने एक टैक्सी किराए पर ली और नैनीताल की यात्रा शुरू की।

काठगोदाम से नैनीताल की यात्रा में वहां का अद्भुत प्राकृतिक सौंदर्य , टेढ़े मेढ़े सर्पीले रास्तों , जंगल के शांत वातावरण के बीच कभी – कभी चिड़ियों का चहचहाना , चारों तरफ हरियाली ही हरियाली , मेरे मन को सकून से भर गया।

इस आनंदमई यात्रा के बाद जब हम नैनीताल पहुंचे तो एक विहंगम नजारा मेरे सामने था। चारों तरफ से पहाड़ियों से घिरा नैनीताल शहर , बीच में एक शानदार सुंदर झील , उसमें नौकायन करते लोग , झुंड में यहाँ – वहां तैरते बतख और माल रोड में धूमते देशी विदेशी पर्यटकों ने मेरा मन मोह लिया। 

प्रकृति की गोद में एक पूरा हफ्ता कैसे बीत गया पता ही नहीं चला। आज भी नैनीताल की यात्रा के  सुहाने पल मेरी यादों में बसे हैं।

प्रश्न 4.

लेखक ने स्पीति की यात्रा लगभग 30 वर्ष पहले की थी। इन तीस वर्षों में स्पीति में कुछ परिवर्तन आया होगा। जानें , सोचें और लिखें ?

उत्तर –

लेखक ने स्पीति की यात्रा आज से लगभग 30 वर्ष पहले की थी जिसका उन्होंने इस पाठ के माध्यम से बारीकी से वर्णन किया है। लेकिन इन तीस बर्षों में वहाँ कुछ ना कुछ परिवर्तन जरूर हुआ होगा।

मूलभूत सुबिधाओं के साथ – साथ बिजली लोगो के घरों में पहुंच गई होगी। संचार व यातायात के साधनों का विकास अवश्य हुआ होगा और युवा पर्यटक व पर्वतारोहियों का आवागमन उस क्षेत्र में अवश्य बढा होगा जिससे वहां पहले की अपेक्षा कुछ ना कुछ परिवर्तन अवश्य हुआ होगा।

Spiti Me Baarish Class 11 Question Answer

भाषा की बात

प्रश्न 1.

पाठ में से दिए गए अनुच्छेद में , क्योंकि , और , बल्कि , जैसे ही , वैसे ही , मानो , ऐसे ही , शब्दों का प्रयोग करते हुए उसे दोबारा लिखिए ?

लैंप की लौट तेज की। खिड़की का एक पल्ला खोला तो तेज हवा का झोंका मुंह और हाथ को जैसे छीलने लगा। मैंने पल्ला भिड़ा दिया। उसकी आड़ से देखने लगा।  देखा कि बारिश हो रही थी। मैं उसे देख नहीं रहा था। सुन रहा था। अंधेरा , ठंड और हवा का झोंका आ रहा था। जैसे बर्फ का अंश लिए तुषार जैसी बूंदे पड रही थी। 

उत्तर –

लैंप की लौ तेज की। जैसे ही खिड़की का एक पल्ला खोला तो तेज हवा का झोंका मुंह और हाथ को जैसे छीलने लगा वैसे ही मैंने पल्ला भिड़ा दिया और उसकी आड़ से देखने लगा। देखा कि बारिश हो रही थी। मैं उसे देख नहीं रहा था बल्कि सुन रहा था क्योंकि अंधेरा , ठंड और हवा का झोंका ऐसे आ रहा था मानो बर्फ का अंश लिए तुषार जैसी बूंदे पड़ी थी। 

Spiti Me Baarish Class 11 Question Answer

स्पीति में बारिश ” पाठ के सारांश को हमारे YouTube channel  में देखने के लिए इस Link में Click करें  ।   YouTube channel link – (Padhai Ki Batein / पढाई की बातें)

Note – Class 8th , 9th , 10th , 11th , 12th के हिन्दी विषय के सभी Chapters से संबंधित videos हमारे YouTube channel  (Padhai Ki Batein / पढाई की बातें)  पर भी उपलब्ध हैं। कृपया एक बार अवश्य हमारे YouTube channel पर visit कर हमें Support करें । सहयोग के लिए आपका बहुत – बहुत धन्यबाद।

You are most welcome to share your comments . If you like this post . Then please share it . Thanks for visiting.

यह भी पढ़ें……

कक्षा 11 हिन्दी

वितान भाग 1 

भारतीय गायिकाओं में बेजोड़ लता मंगेशकर का सारांश 

 भारतीय गायिकाओं में बेजोड़ लता मंगेशकर के प्रश्न उत्तर 

भारतीय गायिकाओं में बेजोड़ लता मंगेशकर के MCQS

राजस्थान की रजत बूंदें का सारांश 

राजस्थान की रजत बूंदें पाठ के प्रश्न उत्तर 

राजस्थान की रजत बूंदें पाठ के MCQS

आलो आँधारि पाठ का सारांश

आलो आँधारि पाठ प्रश्न उत्तर 

आलो आँधारि पाठ के MCQS 

कक्षा 11 हिन्दी आरोह भाग 1 

काव्यखण्ड 

कबीर के पद का भावार्थ

कबीर के पद के प्रश्न उत्तर

कबीर के पद के MCQ

मीरा के पद का भावार्थ

मीरा के पदों के प्रश्न उत्तर

मीरा के पद के MCQ

पथिक का भावार्थ

पथिक पाठ के प्रश्न उत्तर

पथिक के MCQ

वे आँखें कविता का भावार्थ

वे आँखें कविता के प्रश्न उत्तर

वे आँखें कविता के MCQ

घर की याद कविता का भावार्थ

घर की याद कविता के प्रश्न उत्तर

घर की याद कविता के MCQ

ग़ज़ल का भावार्थ

ग़ज़ल के प्रश्न उत्तर

ग़ज़ल के MCQ

आओ मिलकर बचाएँ का भावार्थ

आओ मिलकर बचाएँ के प्रश्न उत्तर

आओ मिलकर बचाएँ के  MCQS

कक्षा 11 हिन्दी आरोह भाग 1 

गद्द्य खंड 

नमक का दारोगा कक्षा 11 का सारांश

नमक का दरोग के प्रश्न उत्तर 

नमक का दरोग के MCQS 

मियाँ नसीरुद्दीन का सारांश 

मियाँ नसीरुद्दीन पाठ के प्रश्न उत्तर

मियाँ नसीरुद्दीन पाठ के MCQS 

अपू के साथ ढाई साल पाठ का सारांश

अपू के साथ ढाई साल के प्रश्न उत्तर

अपू के साथ ढाई साल के MCQ

विदाई संभाषण पाठ का सारांश

विदाई संभाषण पाठ के प्रश्न उत्तर

विदाई संभाषण पाठ के MCQS

गलता लोहा पाठ का सारांश

गलता लोहा के प्रश्न उत्तर

गलता लोहा के MCQS

स्पीति में बारिश का सारांश

स्पीति में बारिश के प्रश्न उत्तर

स्पीति में बारिश के MCQS 

जामुन का पेड़ का सारांश

जामुन का पेड़ के प्रश्न उत्तर

जामुन का पेड़ के MCQS

भारत माता का सारांश 

भारत माता के प्रश्न उत्तर

भारत माता के MCQS

2 comments

  • रजनीश त्रिवेदी says:

    इससे ज़्यादा बेहतरीन समाधान और व्याख्या कहीं नहीं मिलेंगीं। लेखिका को बहुत बहुत बधाई एवं अनंत शुभकामनाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.