Santa Claus village Finland , Santa Claus Story

Santa Claus , Santa Claus village Finland, Santa Claus village North Pole ,Santa Claus address Finland, Santa Claus address North Pole ,Who’s Santa Claus ,Santa Claus Story, Jesus Christ , सांता क्लॉज in Hindi

Santa Claus :Santa Claus village Finland
Santa Claus

Santa Claus

क्रिसमस का त्यौहार सामने हो और सांता क्लॉज ( Santa Claus) की बात ना हो।यह कैसे संभव है।वही Santa Claus जो Christmas Father कहे जाते है।वही Santa Claus जो दूर बर्फीले North Pole में रहते हैं।और आधी रात में ढेर सारे उपहारों के साथ अपने उड़ने वाले रेनडियर्स पर सवार होकर आते हैं।और दुनियाभर के बच्चों को ढेरों तोहफे देकर जाते हैं।

क्यों मनाया जाता है Christmas Day ?जानिए 

हालांकि Santa Claus और Jesus Christ का आपस में कोई सीधा संबंध नहीं है।फिर भी बिना Santa Claus के Christmas का त्यौहार फीका ही लगेगा।सच में Christmas Father  Santa Claus के बिना Christmas की कल्पना करना असंभव है।Santa Claus हर बच्चे के लिए फरिश्ता है।जो आधी रात में आकर ढेर सारे उपहार टॉफी, चॉकलेट व अन्य चीजों देकर जाता है।

Christmas की रात बच्चे इसी उम्मीद में सोते हैं कि सुबह उठने पर उनकी तकिया के नीचे ढेरों उपहार मिलेंगेलाल कपड़े पहने व लम्बी सफेद दाढ़ी वाले  Santa Claus बच्चों को उनकी मुरादें पूरी करने वाले फरिश्ते नजर आते हैं।और ईसाई समुदाय में ईशा मसीह और मदर मैरी के बाद संत निकोलस को ही इतना ऊँचा स्थान व सम्मान मिला है। 

कहाँ है Christmas Island ?जानिए इसकी खासियत 

कौन थे सांता क्लॉज ( Who’s Santa Claus)

संत निकोलस (Sant Nicholas ) जो बच्चों के बीच में सांता क्लॉज के नाम से प्रसिद्ध है।इनका जन्म तीसरी सदी में ईशा मसीह की मृत्यु के लगभग 280 साल बाद मायरा (Myra) (तुर्की) में हुआ था।उनका जन्म एक धनी परिवार में हुआ।दुर्भाग्यवश उनके बचपन में ही उनके माता-पिता का देहांत हो गया।जिसके बाद निकोलस प्रभु ईसा मसीह की शरण में चले गये।

Sant Nicholas
Sant Nicholas

और युवा अवस्था में आने के बाद निकोलस ने अपना जीवन ईसा मसीह को समर्पित कर दिया।और वो एक चर्च में पादरी बन कर अपना जीवन यापन करने लगे।निकोलस 325 CE में सबसे सीनियर पादरी थे।और वो जीसस की मृत्यु के लिए Jews को जिम्मेदार मानते थे। वो उसको “बच्चों का राक्षस” कहते थे।

वो चुपके से लोगों की मदद करने का हर संभव प्रयास करते।लोगों का दुख दर्द बांटना , मानव सेवा करना ही उनके जीवन का उद्देश्य था।वे अक्सर अर्ध रात्रि में गरीब बच्चों और लोगों को गिफ्ट दिया करते थे।या उनकी परशानियों को दूर करने में उनकी मदद करते थे।

महाशिवरात्रि का महपर्व क्यों मनाया जाता हैं जानिए 

Sant Nicholas आधी रात में ही उपहार क्यों देते थे ?

Sant Nicholas यह काम जरूरतमंदों की मदद व बच्चों को खुश करने के लिए करते थे।न कि प्रसिद्धि पाने के लिए।इसलिए Sant Nicholas अपने उपहार आधी रात में देते थे।वो चाहते थे कि उनको उपहार देते हुए कोई न देखे। वो लोगों के सामने अपनी पहचान उजागर नहीं करना चाहते थे।

दरअसल संत निकोलस बच्चों से खास लगाव रखते थेऔर वो उनके चेहरे पर मुस्कुराहट देखना चाहते थे।इसीलिए वो बच्चों को उपहार देते रहते थे।स्थानीय लोग के मन में भी संत निकोलस के प्रति काफी आदर भाव था।

Sant Nicholas or Santa Claus
Sant Nicholas or Santa Claus

Santa Claus Story ( संत निकोलस कैसे बन गये सांता क्लॉज़ )

दरअसल Nicholas शब्द को डच में सिंटर क्लास ( Sinter Klaas ) कहा जाता है।जो संत निकोलस का डच भाषा में छोटा नाम था।जो Sinter Klaas से धीरे-धीरे Santa Claus बन गया। क्यों मनाया जाता है दीपावली का त्यौहार?जानिए 

  • 6 दिसंबर को मनाया जाता हैं निकोलस दिवस ( Nicholas Day )

सन 1200 से फ्रांस में 6 दिसंबर को निकोलस दिवस मनाया जाने लगाक्योंकि इस दिन संत निकोलस इस दुनिया को छोड़ कर प्रभु के पास चले गए थेउनकी मृत्यु के बाद 6 दिसंबर को उनकी जयंती निकोलस दिवस के रूप मनाई जाने लगी

इस अवसर पर भोज का आयोजन किया जाने लगा।लोग इस दिन को बहुत शुभ मानने लगे है और इस दिन को खरीदारी करने व शादी विवाह के लिए भी शुभ माना जाने लगा।

समय के सांथ-साथ कई यूरोपीय देशों में संत निकोलस के प्रति सम्मान बढ़ता चला गया। खास तौर पर हॉलैंड के लोग संत निकोलस को बहुत ज्यादा मानने लगे थे।1773 में हॉलैंड के कुछ परिवार अमेरिका ( न्यूयॉर्क ) में आकर बस गए।

क्यों मनाया जाता है विश्वकर्मा दिवस ?जानिए 

वो लोग अब अमेरिका में भी संत निकोलस की जयंती मनाने लगे।वो इस दिन प्रार्थना करते और भोज का आयोजन करते हैं।

सन 1804 में John Pintard (न्यूयॉर्क हिस्टोरिकल सोसाइटी के सदस्य) ने संत निकोलस के लकड़ी के पुतले लोगों को बांटे।जिनमें Nicholas (सैंटा क्लॉज) को गिफ्ट और खिलौनों के साथ एक फायर प्लेस के पास खड़ा दिखाया गया था।ये पुतले वर्तमान संता क्लॉज की छवि के प्रतिरूप थे।

इसके बाद सन 1809 में वाशिंगटन के एक लेखक Irving ने अपनी कहानी और किताबों में सेंट निकोलस को न्यूयार्क का संरक्षक बताया।इसके बाद अन्य लेखकों ने भी अपनी बच्चों की कहानियों व कविताओं में सांता क्लॉज के बारे में नई-नई बातें जोड़ी।सांता क्लॉज़ के बारे में और दिलचस्प कहानियां बनाकर पेश की। इस तरह अमेरिका में संत निकोलस की ख्याति दिन प्रतिदिन बढ़ती गई। 

क्यों मनायी जाती है बुद्ध पूर्णिमा ?जानिए 

इसके बाद निकोलस जयंती व क्रिसमस के मौके पर व्यापारी वर्ग ,शॉपिंग मॉल्स और अखबारों ने अधिक बिक्री के लिए सांता क्लॉज की छवि का उपयोग विज्ञापनों में करना शुरू कर दिया।जिससे व्यापारी वर्ग को काफी फायदा हुआ। 

  • आधुनिक Santa Claus का अस्तित्व

आज हम Santa Claus का जो रूप देखते है।वह 1930 में पहली बार अस्तित्व में आया।जब कोका कोला के एक विज्ञापन में Santa Claus को इस तरह पेश किया गया।इस विज्ञापन में हैडन संडब्लोम ने Santa Claus की भूमिका निभाई।और कोका कोला का यह विज्ञापन 35 वर्षों तक लगातार चलाया गया

Santa Claus का यह नया रूप लोगों के दिलों को भा गया।इसीलिए इसे ही Santa Claus के  नये रूप के रूप में स्वीकार किया गया।आजकल Christmas day पर कई बड़े शॉपिंग मॉल्स में  किसी मॉडल को सांता क्लास के रूप में बाहर खड़ा कर दिया जाता है। जो छोटे-छोटे बच्चों को गिफ्ट देता है। 

26 जनवरी को ही गणतंत्र दिवस क्यों मनाया जाता है? जानिए 

आखिर सांता क्लॉज़ मोजे में ही तोहफा क्यों लेकर आते हैं (Why Santa Claus keep gifts in socks) 

क्या आपने कभी सोचा है कि आखिर Santa Claus लाल रंग के मोज़े में ही तोहफा लेकर क्यों आते हैं।दरअसल इसके पीछे एक दिलचस्प कहानी है।

Santa Claus keep gifts in socks
Santa Claus keep gifts in socks

Sant Nicholas हमेशा लोगों की मदद कर उनकी परेशानियों को दूर करने प्रयास करते थे।एक बार उनको कहीं से पता चला कि एक गरीब आदमी की तीन बेटियां हैं।और जिनकी शादियों के लिए उसके पास बिल्कुल भी पैसा नहीं है।इसके बाद उन्होंने उस शख्स की मदद करने सोची ।

Sant Nicholas एक रात इस आदमी के घर की छत में लगी चिमनी के पास पहुंचे।और उन्होंने वहां से सोने से भरा बैग अंदर डाल दिया।लेकिन इस गरीब शख्स ने अपना लाल रंग का मौजा सुखाने के लिए चिमनी में लगा रखा था।

कब मनाया जाता है Father’s Day ?जानिए  

अगले दिन जब इस शख्स ने मोजे को निकाला तो अचानक सोने से भरा बैग उसके घर पर आ गिरा। उसके साथ ऐसा एक बार नहीं बल्कि तीन-तीन बार हुआ।क्योंकि हर बार निकोलस उस आदमी की चिमनी में सोने से भरा हुआ बैग डाल देते थे।

लेकिन आखिरी बार में इस गरीब व्यक्ति ने निकोलस को देख लिया।वह उनका आभार जताने लगा।लेकिन निकोलस ने उन्हें कहा कि वह यह बात किसी को न बताएं।लेकिन धीरे-धीरे निकोलस की यह कहानी पूरी दुनिया को पता चल गई।

इसके बाद से क्रिसमस के दिन लाल रंग के मोजे में गिफ्ट देने का चलन बढ़ता ही चला गया।अभी भी बच्चे 24 दिसंबर की रात को लाल रंग के मोज़े अपने पास या घर के बाहर लटका कर सोते है।ताकि Santa Claus आएं।और उनके socks में ढेर सारे चॉकलेट, टॉफी और अन्य उपहार भर कर चले जाए।

समय के साथ संत निकोलस की प्रसिद्धि लगातार बढ़ती गई।उन्हें गरीब और बच्चे अपना फरिश्ता समझने लगे।संत निकोलस ने हमेशा गरीब और वंचित लोगों की मदद की।इसीलिए वह आज भी दुनिया में अमर है।

फ्रांस में चिमनी में जूते लटकाने की प्रथा है।तो हॉलैंड में बच्चे सांता के रेनडियर्स के लिए अपने जूतों में गाजर भर कर रख देते हैं।

कब मनाया जाता है Mother’s Day ?जानिए  

Santa Claus के हैं कई नाम 

अमेरिका और कनाडा में Sant Nicholas को सांता क्लॉज कहते हैं।जबकि चीन में उन्हें शेनगदान लाओरन के नाम से जाना जाता है।वहीं इंग्लैंड में इन्हें फादर क्रिसमस कहा जाता है।यूरोपीय देशों में लोग जब सांता क्लॉज़ को पत्र लिखते हैं तो फादर सिमस या सेंट निकोलस के नाम से भेजते हैं। तथा रूस में डेड मोरोज के नाम से सांता क्लॉज़ को पत्र लिखे जाते हैं। 

सांता क्लॉज़ का गांव ( Santa Claus village Finland)

Santa Claus का गांव उत्तरी फ़िनलैंड के रोवानेमी ( Rovaniemi ) शहर से लगभग 7 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।इस गांव को सैंटा क्लॉज़ का गांव (Santa Claus Village Finland) भी कहा जाता है।यह जगह आर्कटिक सर्कल पर स्थित है। इसीलिए यहाँ सर्दियों में दिन काफी छोटे होते हैं।यह जगह सदा बर्फ से ढकी रहती है।यह धरती का पोलर जोन माना जाता है। 

जानकारों के मुताबिक Santa Claus Village Finland में एक व्यक्ति को रियल सांता (Real Santa Claus) की उपाधि दी जाती है।Santa Claus Village Finland में रियल सांता से मिलने हर साल लाखों लोग जाते हैं।यहां सांता का ऑफिस भी है। जहां अनेक भाषाओं में बात करने वाले कलाकार रहते है।जो रियल सांता से मिलने आने वाले लोगों से संबाद करते हैं। 

 राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस कब मनाया जाता है ?जानिए 

एक आंकड़े के मुताबिक हर साल Santa Claus Village Finland में तकरीबन 3 लाख से ज्यादा लोग सांता से मिलने आते हैं।इस गांव से उन्हें एक सर्टिफिकेट भी दिया जाता है कि वह रियल सांता से मिल चुके हैं।

यहां फादर क्रिसमस रोज उनसे मिलने आने वाले अपने सैकड़ों मेहमानों से मिलते हैं।बच्चे Santa Claus से मिलकर बहुत खुश होते है।बच्चे Real Santa Claus की गोद में बैठ सकते हैं।सेंटा से हाथ मिला सकते हैं।उनसे बातें कर सकते हैं। 

हालांकि दूसरे विश्व युद्ध में Santa Claus Village पूरी तरह से खत्म हो गया था। लेकिन 1950 में इसका पुनर्निर्माण किया गया।

Santa Claus office 

Santa Claus Village Finland में सांता के पास एक अपना शानदार ऑफिस व एक पोस्ट ऑफिस भी हैं। जिसमें हर साल दुनिया भर से बच्चों द्वारा भेजे गये लगभग पांच लाख पत्र आते हैं।Santa Claus office में साल भर काम चलता रहता है।

आज के हाइटेक जमाने में Santa Claus office भी आधुनिक तकनीकि से जुड़ा हैं।सांता के इस Santa Claus office की अपनी एक ऑफिशियल वेबसाइट (Website) भी है।जहां आपको इस ऑफिस से जुड़ी हर जानकारी मिलेगी।Website पर आप हर क्रिसमस पर सांता क्लॉज द्वारा बच्चों को भेजा गया वीडियो मैसेज भी देख सकते हैं।

Santa Claus का एक फेसबुक अकाउंट और एक इंस्टाग्राम अकाउंट भी है। जहां पर आप Santa Claus office की तस्वीरों के साथ वहां होने वाले कामकाज ,सैंटा क्लॉज की फोटो आदि सभी देख सकते हैं। 

Santa Claus office की Official Website 

https://oma.posti.fi/en/santa-claus-main-post-office

सांता क्लॉज का फेसबुक अकाउंट

https://www.facebook.com/santaclausmain

सांता क्लॉज का इंस्टाग्राम अकाउंट

https://www.instagram.com/santaclausmain

इसके अलावा अमेरिका की FreeConferencecall.com नाम की एक कंपनी ने सांता क्लॉज से बात करने के लिए एक टेलीफोन नंबर भी उपलब्ध करवाया है। सैंटा क्लॉज का टेलीफोन नंबर (951)262-3062 है।इस नंबर पर कोई भी कॉल करके सांता क्लॉज से बात कर सकता है। 

ईमेल की तुलना में हाथ से लिखे पत्रों की संख्या काफी ज्यादा होती है।लेकिन emailsanta.com वेबसाइट में जाकर ई-मेल से भी सांता को पत्र लिखे जा सकते हैं। आपको आपके पत्रों के तुरंत जवाब मिलेंगे। 

विश्व स्वास्थ्य दिवस क्यों मनाया जाता है ?जानिए 

Santa Claus address Finland

वैसे दुनिया भर में सांता के कई पते हैं।जहां बच्चे अपने पत्र भेजते है।लेकिन उनके फिनलैंड वाले पते पर सबसे ज्यादा पत्र भेजे जाते हैं।बच्चों द्वारा 90% पत्र फिनलैंड वाले पते पर ही भेजे जाते हैं।इस पते पर भेजे गए प्रत्येक खत का लोगों को जवाब भी मिलता है1985 से अब तक इस ऑफिस में दुनिया भर से करीब 17 मिलियन पत्र आ चुके है। 

Santa Claus address Finland

सांता क्लॉज,
सांता क्लॉज विलेज,
एफआईएन 96930 आर्कटिक सर्कल,
फिनलैंड

सांता क्लॉज रहते हैं उत्तरी ध्रुव में ( Santa Claus village North Pole )

आज भी अमेरिकी लोगों को विश्वास है कि Santa Claus अपनी Wife और बहुत सारे बौनों के साथ उत्तरी ध्रुव में रहते हैं।वो उड़ने वाले रेनडियर्स द्वारा खींची जाने वाली स्लेज बर्फ गाड़ी पर बैठ कर आते हैं

चूंकि उत्तरी ध्रुव हमेशा पूरी तरह से बर्फ से ढका रहता है।और बर्फीली जगहों पर केवल स्लेज गाड़ियां ही चलाई जाती हैं। इन स्लेज गाड़ियों को कुत्ते या रेनडियर ही खींचते है।उत्तरी ध्रुव के मूल निवासियों की गाड़ी स्लेज है।उनके पालतू जानवर रेनडियर व कुत्ते है। इसीलिए सांता क्लॉज को स्लेज व रेनडियर पर दिखाया जाता है।  

भाई बहनों के प्यार का प्रतीक त्यौहार रक्षाबंधन क्यों मनाया जाता है?

सांता क्लॉज के पास North Pole पर एक खिलौने बनाने की फैक्ट्री है।हर रोज वहां ढेरों खिलौने बनाए जाते है।सांता के ये बौने साल भर इस फैक्ट्री में खिलौने बनाने का काम करते हैं।ताकि Christmas के दिन बच्चों को उपहार स्वरूप खिलौने दिये जा सकें।

क्रिसमस की रात सांता क्लाज बच्चों के लिए सुंदर व प्यारे उपहार लाते हैं।ऐसा कहा जाता हैं कि सांता क्लॉस के पास सभी बच्चों की मांगों की एक लिस्ट होती है।और क्रिसमस की रात Santa Claus बच्चों के घर के ऊपर बनी हुई चिमनी में बच्चों के लिए खिलौने व चॉकलेट रख कर चले जाते हैंशैतान बच्चों की चिमनी में कोयले से भरी हुई थैली रख कर जाते हैं

Santa Claus address North Pole

जब लोग Santa Claus को पत्र भेजते वक्त पता  “सांता क्लॉज़ , उत्तरी ध्रुव ” लिखते है।वो सभी पत्र न्यूक में स्थित उनके मेल बॉक्स पर पहुंचती हैं।उनका यह लेटर बॉक्स आकार में बहुत बड़ा है।सांता क्लॉज़ के पास अपना एक वास्तविक डाक जिप कोड भी है।कई बार इन पत्रों में पूरा पता लिखा होता है। तो कई बार पते की जगह सिर्फ सांता क्लॉज की छोटी सी ड्राइंग बना कर पत्र भेज दिये जाते हैं ।   

Santa Claus address North Pole

सांता क्लॉज , 2412 न्यूक , ग्रीनलैंड 

या

सांता क्लॉज़ , उत्तरी ध्रुव

or

Santa Claus , 2412 Nuuk ,Greenland .

 जन्माष्टमी क्यों मनायी जाती है जानिए 

Santa Claus को भेजे जाते हैं हर साल लाखों पत्र 

एक आंकड़े के अनुसार सांता को हर साल दुनिया भर से करीब 60 लाख से अधिक पत्र मिलते हैं।यह पत्र अधिकतर छोटे बच्चों द्वारा लिखे जाते हैं।इतनी बड़ी संख्या में आने वाले पत्रों का जबाब देने के लिए कुछ देशों को अलग से डाक कर्मचारियों की नियुक्ति करनी पड़ती है।

दुनिया में कम से कम ऐसे 20 देश है।जहां पर खासतौर से दिसंबर के महीने में नए कर्मचारीयों की नियुक्ति की जाती हैं।जो बच्चों के पत्रों का जबाब देते हैं।और कई जगहों पर क्रिसमस के दौरान बच्चों द्वारा सांता क्लॉज को लिखे पत्रों का जवाब किसी संस्था के स्वयंसेवकों द्वारा दिया जाता है। 

जबकि कई जगहों पर सांता के पोस्टल वॉलेन्टियर रहते हैंजो सांता के नाम पर आए इन खतों का जवाब देते हैं।वहीं इस तकनीकी और मॉडर्न युग में देश-विदेश के कई बच्चे Santa Claus को खत की जगह ई-मेल भेजते हैं।जिनका उन्हें जवाब दिया जाता है। और उनकी wish भी क्रिसमस के दिन पूरी की जाती है। 

बाल्मीकि जयंती क्यों मनाई जाती हैं जानिए

सबसे अधिक पत्र पाने वाले देशों

Santa Claus के नाम पर सबसे अधिक पत्र पाने वाले देशों में कनाडा ,फ्रांस ,जर्मनी है।कनाडा और फ्रांस में 10 लाख से अधिक बच्चे सांता को पत्र लिखते हैं।कनाडा के पोस्ट ऑफिस विभाग ने सांता को भेजे जाने वाले पत्रों के लिए एक अलग से पिन कोड भी जारी किया है।फ्रांस में पत्रों का जवाब देने के लिए 60 सांता सेक्रेटरी नियुक्त किए जाते हैं। 

कनाडा का पोस्ट ऑफिस विभाग 26 भाषाओं में इन खतों का जवाब देता है।और जर्मनी के पोस्ट ऑफिस द्वारा 16 भाषाओं में इन खातों का जवाब दिया जाता है। 

आप भी लिखें Santa Claus को पत्र 

आप भी Santa Claus को पत्र लिख सकते है।बस पता सही से लिखिए।सांता क्लॉज को पत्र लिखते वक्त अपना पता लिखना ना भूलें।और क्रिसमस पर सांता से गिफ्ट प्राप्त करने के लिए   आपका पत्र Santa Claus तक 16 दिसंबर से पहले पहुंच जाना चाहिए। ताकि सांता आपके पत्र को पढ़ कर आपको Christmas तक जबाब दे सकें।  

Wish you a very happy Christmas…..Merry Christmas…..

You are most welcome to share your comments.If you like this post.Then please share it.Thanks for visiting.

यह भी पढ़ें……

कहाँ है Christmas Island ?जानिए इसकी खासियत

क्यों मनाया जाता है Christmas ?जानिए इसकी खासियत

क्या है अनुच्छेद 371 जानें  विस्तार से ?

क्या है इमोजी,इमोजी का जन्म कहां ,कब और कैसे हुआ जानें

Leave a Reply

Your email address will not be published.