World Emoji Day क्यों मनाया जाता है ?

World Emoji Day (17 July)।क्या है वर्ल्ड इमोजी डे की खासियत?सोशल मीडिया,इंटरनेट और स्मार्टफोन की दुनिया का स्टार है इमोजी।

World Emoji Day

वर्ल्ड इमोजी डे (World Emoji Day) कब और क्यों मनाया जाता है?सोशल मीडिया,इंटरनेट और स्मार्टफोन के इस जमाने में शायद ही कोई ऐसा इंसान होगा जिसे इमोजी की बारे में पता नहीं होगा।हम हर रोज फेसबुक, फेसबुक मेसेंजर, ट्विटर, व्हाट्सएप और इंस्टाग्राम पर इन इमोजी के जरिये अपनी भावनाएँ को दूसरों तक पहुंचाते हैं।

World Emoji Day क्यों मनाया जाता है ?

जानिए क्यों मनाया जाता है दशहरा?

और ये इमोजी हमारी भावनाओं को बिना कुछ बोले व बिना कुछ कहे,हमारे अपनों तक हमारी बात को बड़ी आसानी व सरलता से लेकिन बड़े प्रभावशालीढंग से पहुंचा देते है।इमोजी की बढ़ती लोकप्रियता को देखते हुए वर्ष 2014 से हर साल 17 जुलाई को वर्ल्ड इमोजी डे/ World Emoji Day” मनाया जाता है।इमोजी को “जापानी एक्सप्रेशन” भी कहा जाता है।

क्या है इमोजी ? (What is Emoji )

आज के दौर में हम सोशल मीडिया पर किसी को मैसेज भेजने के लिए सिर्फ शब्दों (Word) या वाक्यों (Sentences)का ही प्रयोग नहीं करते बल्कि इसके साथ साथ तरह के स्माइली फेस, दिल, जानवरों, खाद्य पदार्थों, गणितीय प्रतीकों, कार, जहाज, पेड़, मौसम, फूल, गिफ्ट, नमस्कार आदि की छबियों को भी भेजते हैं।

यही छबियें इमोजी कहलाती है।इमोजी का इस्तेमाल मेसेंजर, फेसबुक, इंटरनेट आदि पर ज्यादा किया जाता हैं।इमोजी वास्तविक चित्र/छबि या आइकन है।

पिथौरागढ़(उत्तराखंड) में खुलेगा देश का सबसे बड़ा टयूलिप गार्डन ?

इमोजी का जन्म (Birth of Emoji)

इमोजी के जन्म की भी बड़ी दिलचस्प कहानी है।दरअसल 1990 में जापान निवासी शिगेटिका कुरिता(Shigetaka Kurita) ने पहली बार इमोजी को तैयार किया था।शिगेटिका कुरिता ने यह इमोजी वाली फोटो जापान की एक टेलीकॉम कंपनी एनटीटी डोकोमो (NTT Docomo) के लिए बनायी थी ताकि किशोर बच्चों को रिझाया जा सके।

शिगेताका कुरीता को इमोजी बनाने का विचार तब आया जब उन्हें बड़े ईमेल( 250 से ज्यादा शब्दों में) भेजने में परेशानी हो रही थी।क्योंकि उस समय मोबाइल इंटरनेट से ईमेल सिर्फ 250 शब्दों तक ही भेजा जा सकता था।तब शिगेताका कुरीता ने कम शब्दों में अपनी विचारों को व्यक्त करने के लिए इमोजी को जन्म दिया।

इमोजी का सबसे पहले इस्तेमाल यूजर्स ने 1995 में वायरलेस टेलीकम्युनिकेशन उपकरण पेजर में किया।उस समय जापानियों द्वारा इनका इस्तेमाल सबसे ज्यादा किया जाता था।

world Emoji Day

इमोजी शब्द का अर्थ  (Meaning of Emoji)

जापानी भाषा में इमोजी दो शब्दों से मिलकर बना हुआ हैं।इमोजी(Emoji) शब्द का शाब्दिक अर्थ है। E मतलब चित्र (Picture), moji मतलब वर्ण (character/अक्षर)

इमोजी किसी भी मूड (मुस्कराना/गुस्सा) या वस्तु या किसी चीज(फूल, पेड़, कार) की दृश्य/छवि का प्रतिनिधित्व करता है।यह मुख्यतह मोबाइल और इंटरनेट आधारित है।इसे पिक्टोग्राफ, आइडियोग्राफ और स्माइली भी कहा जाता है।पीले रंग के ये कार्टून अलग-अलग मूड ,खाद्य पदार्थों, पेय पदार्थों, बिल्डिंगों, वाहनों, जानवरों, परिवारों,मौसम के हाल आदि को बड़ी सुंदरता के साथ प्रस्तुत करते है।

गोल्ड मोनेटाइजेशन क्या है?जानिए

वर्ल्ड इमोजी डे मनाने का उद्देश्य (Aim of World Emoji Day)

चूँकि इमोजी को देखते ही हर चेहरे में एक मुस्कराहट आ जाती है और उसे भेजने वाले का स्पष्ट संदेश भी देखने वाले की समझ में आ जाता है।यानी इमोजी हमें खुशी व प्रसन्नता देते है।वर्ल्ड इमोजी डे मनाने का उद्देश्य भी यही है इमोजी के इस्तेमाल को बढ़ावा देना और इमोजी से मिलने वाली खुशी व प्रसन्नता को चारों ओर फैलाना।क्योकि इमोजी बिना एक शब्द बोले आपको खुश कर देते है।

पलभर के लिए ही सही आपके होठों में मुस्कुराहट ले आते हैं, रूठे को मना देते है और एक दिल की बात दूसरे दिल तक पहुंचा देते है।सिर्फ एक इमोजी कई सारे शब्दों को बयान कर जाता है।इमोजी की मदद से हम अपनी भावनाओं को आसानी से व्यक्त कर सकते हैं।शायद यही वजह है कि हर रोज तकरीबन 90 करोड़ों इमोजी एक दूसरे को भेजे जाते हैं।इमोजी धीरे-धीरे हमारी जिंदगी का अहम हिस्सा बन गया है।

इमोटिकॉन्स (Emoticons) का इस्तेमाल

इमोजी से पहले इमोटिकॉन्स (Emoticons) का इस्तेमाल किया जाता था।Emoticons ( Emotion और icons) इसका प्रयोग भी शब्दों के बदले किया जाता था।इमोटिकॉन्स के जरिये भी लोग अपनी भावनाएँ को दूसरों तक पहुंचाते थे।

इमोटिकॉन्स नियमित वर्णों जो कीबोर्ड में मौजूद होते है का उपयोग करके तैयार किए जाते हैं जैसे  🙂 , 🙁^_^ , ‘-‘ , :> , :< , 0 _ 0  आदि।इमोटिकॉन्स 90 के दशक के MSN ,Yahoo,AOL जैसे कम्युनिकेशन ऐप में काफी लोकप्रिय थे।और आज भी इनका प्रयोग किया जाता हैं।

13 डिस्ट्रिक्ट 13 डेस्टिनेशन योजना उत्तराखंड

इमोजीपीडिया (Emojipedia ) And World Emoji Day की शुरुवात 

इमोजी की लोकप्रियता को देखते हुए जेरेमी बर्ग (Jeremy Burge) ने विकीपीडिया की तरह इमोजीपीडिया की शुरुवात की।इमोजी का मतलब समझने के लिए इमोजीपीडिया को बनाया गया है।जेरेमी बर्ग ने ही 17 जुलाई 2014 को पहली बार “World Emoji Day” मनाने के फैसला किया।

तभी से हर साल 17 जुलाई को World Emoji Day मनाया जाता है।जेरेमी बर्ग यूनिकोड कमेटी के सदस्य भी हैं।यूनिकोड स्टैंडर्ड लिस्ट के मुताबिक इस समय 2666 इमोजी मौजूद हैं।

world Emoji day  है खास सभी के लिए ?

कौन हैं शिगेताका कुरीता (Father Of Emoji)

अगर आज हम World Emoji Day मना रहे हैं तो शिगेताका कुरीता की वजह से।शिगेताका कुरीता को “फादर ऑफ इमोजी” कहा जाता है।शिगेताका कुरीता ने अर्थशास्त्र में अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद 25 साल की उम्र में एक जापानी टेलीकॉम कंपनी में नौकरी शुरू की।शिगेताका कुरीता ने शुरुआती दौर में इस कंपनी की मोबाइल इंटरनेट सर्विस के लिए इमोजी बनाए थे।क्योंकि उस वक्त मोबाइल इंटरनेट से ईमेल सिर्फ 250 शब्दों में ही भेजा जा सकता था।

तब शिगेताका कुरीता ने कम शब्दों में अपनी बात कहने के लिए इमोजी को बनाया था।उन्होंने लगभग 176 इमोजीज का अपना सबसे पहला इमोजी सेट तैयार किया था।जिसमें 12*12 पिक्सेल के चित्र थे।जो बहुत सरलता से एक व्यक्ति के विचारों को दूसरे तक पंहुचा देते थे।

शिगेताका कुरीता को "फादर ऑफ इमोजी" कहा जाता है

राष्ट्रमंडल दिवस कब और क्यों मनाया जाता है ?

सन 1999 में रंग-बिरंगे इमोजी का इस्तेमाल शुरू हुआ और देखते ही देखते ये दुनियाभर में लोकप्रिय हो गये।शिगेताका कुरीता ने शुरुवाती दौर में मौसम के चित्र (जैसे वर्षा बादल ,धूप ,छतरी ,बर्फ), तकनीक से जुड़े लैंडलाइन, सेलफोन, टीवी, ट्रैफिक के लिए कार, जहाज, खाने व पीने से संबंधित चीजों की इमोजी, अलग अलग मूड को दिखाने वाली (हंसी,  दुख,  क्रोध, सरप्राइज, कन्फ्यूजन के भाव दिखाने वाले) इमोजी बनाई थी।

शिगेताका कुरीता ने जापानी कॉमिक्स मंगा, आधुनिक जापानी लेखन प्रणाली कांची में इस्तेमाल होने वाले लॉजिस्टिक चीनी पात्रों से इसकी प्रेरणा लेकर ही अपना पहला इमोजी सेट बनाया था।

एप्पल ने बनाया इमोजी कीबोर्ड

शिगेताका कुरीता के बनाये इमोजी जापान में खूब इस्तेमाल किये जाने लगे।और इसी लोकप्रियता को भुनाने लिए एप्पल ने जब 2007 में अपना पहला आईफोन जापानी बाजार में उतारा था तो उसके साथ उसने  इमोजी कीबोर्ड भी दिया था।ताकि जापानी बाजार में एप्पल आईफोन की धाक जम सके।उस समय यह फीचर अमेरिकी यूजर्स के लिए नहीं था।

एप्पल ने इस इमोजी कीबोर्ड में एमएमएस सेटिंग, व्हाट्सएप,मैसेजेस के दौरान अपनी भावनाओं का आदान प्रदान करने के लिए इमोजी का प्रयोग करने की सुविधा दी थी।अब अधिकतर लोग लंबे-चौड़े वाक्य लिखने के बजाय इमोजी का इस्तेमाल कर कम शब्दों में अपनी भावनाओं को व्यक्त करने लगे थे।

एप्पल अपने आईफोन,आईपैड,एप्पल वॉच और मैक यूजर्स के लिए हर साल कुछ नए इमोजी लेकर आता है और यह नये इमोजी आने वाले नये सॉफ्टवेयर के साथ अपडेट कर दिए जाते हैं।

लोकपाल व लोकायुक्त कानून की क्या है खासियत ?

ऑक्सफोर्ड इंग्लिश डिक्शनरी में इमोजी (2013)

दुनिया भर के लोगों के बीच में इमोजी की लोकप्रियता को देखते हुए वर्ष 2013 में इमोजी शब्द को “ऑक्सफोर्ड इंग्लिश डिक्शनरी” में शामिल किया गया।

वर्ल्ड ऑफ ईयर(Word of  the year (2015)

हर दिन सोशल मीडिया और इंटरनेट पर करोड़ों लोगों द्वारा एक दूसरे को भेजे जाने वाले इमोजी को 2015 में  “वर्ल्ड ऑफ द ईयर/Word of  the year” चुना गया।

जानिए क्यों मनाया जाता है दीपावली का त्यौहार?

म्यूजियम ऑफ मॉडर्न आर्ट में जगह

वर्ष 2016 में न्यूयॉर्क में स्थित “म्यूजियम ऑफ  मॉडर्न आर्ट” ने अपने स्थायी संग्रह में शिगेताका कुरीता के 176 इमोजी को शामिल किया है।साथ ही साथ हॉलीवुड में एक एनिमेटेड मूवी भी बनाई गयी है जिसमें 250 इमोजी को दिखाया गया है।

 इमोजी को यूनिकोड द्वारा मान्यता

इमोजी को यूनिकोड द्वारा 2010 में मानकीकृत किया था।यूनिकोड चरित्र आधारित इलेक्ट्रॉनिक संचार के लिए एक स्टैंडर्ड मानक है।यूनिकोड स्टैंडर्ड लिस्ट के अनुसार अब तक 2666 इमोजी बनाए जा चुके हैं।यूनिकोड कमेटी के मुताबिक हर साल सैकड़ो नए इमोजी बनाने के आवेदन मिलते हैं।

प्रधानमंत्री छात्रवृत्ति योजना क्या है ?

नए इमोजी बनाने के लिए यूनिकोड कंसोर्टियम से इजाजत लेनी होती हैं क्योंकि यूनिकोड कंसोर्टियम ही तय करता है कि किस का इमोजी बनाया जायेगा और किसका नहीं।लेकिन एप्पल,गूगल, माइक्रोसॉफ्ट,ट्विटर,फेसबुक जैसी बड़ी कंपनियां अपनी जरूरत के मुताबिक अपने इमोजी तैयार कर सकती है।उन पर इस तरह की कोई पाबंदी नहीं है।

फेसबुक पर सबसे ज्यादा इस्तेमाल होते है इमोजी

वर्तमान समय में इमोजी का सबसे ज्यादा इस्तेमाल फेसबुक यूजर्स के द्वारा किया जाता है।एक सर्वे के अनुसार फेसबुक में लगभग 6 करोड़ इमोजी का इस्तेमाल हर रोज होता है।और इसके बाद फेसबुक मैसेंजर पर इसका इस्तेमाल सबसे ज्यादा होता है। हम अपनी भावनाओं को व्यक्त करने के लिए शब्दों से ज्यादा इमोजी का इस्तेमाल करते हैं।मजेदार बात यह है कि इमोजी अब सोशल मीडिया की एक अलग ही नई भाषा बन गयी है।

वर्ल्ड इमोजी डे पर आएंगे नये इमोजी

क्या है अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति योजना ?

फेसबुक ने हाल ही में अपने यूजर्स को हंसी, खुशी, लव, गुस्सा, उदासी जैसे इमोजीज को अपने लाइक बटन (Like Button )के साथ जोड़कर यूजर्स का काम और आसान व मजेदार करने का काम किया हैं।यूजर्स अब अपनी फोटो के ऊपर भीे इन इमोजी का प्रयोग कर सकते हैं।

भारतीयों के पसंदीदा इमोजी

एक सर्वे के अनुसार भारतीय मोबाइल और इंटरनेट यूजर्स पाँच इमोजी का इस्तेमाल सबसे ज्यादा करते हैं।चाहे वो ट्विटर हो ,फेसबुक हो या कोई और प्लेटफार्म।भारतीयों के पसंदीदा इमोजी में खुशी के आंसू वाला इमोजी, आंखों में दिल के साथ मुस्कुराता हुआ चेहरा, नमस्कार/प्रणाम वाला इमोजी, दिल का इमोजी, खुशी व्यक्त करता इमोजी।2017 में हार्ट इमोजी का अत्यधिक इस्तेमाल हुआ।न्यू ईयर पर सबसे ज्यादा इमोजी का इस्तेमाल किया जाता है।

वैसे फेसबुक पर कुल 2800 इमोजी है जिनमें से लोग रोज सिर्फ 2300 का ही ज्यादा इस्तेमाल करते हैं।पूरी दुनिया के लोग हर रोज लगभग 900 मिलियन इमोजी बिना कोई शब्द लिखे एक दूसरे को भेजते हैं।

हिंदी दिवस क्यों मनाया जाता है जानिए

 हर भाषा के साथ होता हैं इमोजी का इस्तेमाल

इमोजी की खासियत यह हैं कि इसका इस्तेमाल किसी भी भाषा के साथ किया जा सकता है।इसीलिए दुनिया भर के लोग इनका जमकर इस्तेमाल करते हैं।भारत में ही अनेक भाषायें बोली जाती है लेकिन इमोजी का प्रयोग करने में शायद ही किसी को दिक्क्त आती हो।अरबों लोग जो सोशल मीडिया से जुड़े हैं वो तरह तरह की भाषाओं के साथ इमोजी का इस्तेमाल करते हैं।

vehicle Emoji

इमोजी के बारे में कुछ अन्य बातें (Interesting Fact about Emoji )

  • 17 जुलाई 2014 को पहला “वर्ल्ड इमोजी डे” मनाया गया था।
  • फ़िनलैंड दुनिया का सबसे पहला देश है जिसने अपनी संस्कृति की इमोजी बनाई है।
  • ऑनलाइन रहते हुए करीब 92% लोग इमोजी का इस्तेमाल करते हैं।
  • 2016 में एप्पल कंपनी ने असली पिस्तौल वाली इमोजी को हरे रंग की पिचकारी वाली पिस्तौल इमोजी में बदल कर इसे अपनी इमोजी लिस्ट में शामिल किया।
  • फेसबुक मैसेंजर पर लगभग 5 बिलियन इमोजीज का हर रोज इस्तेमाल होते हैं जिसमें हंसते-हंसते आंखों से आंसू निकलने वाला स्माइली इमोजी सबसे ज्यादा इस्तेमाल होता है।

UAPA बिल 2019 क्या है जानें विस्तार से

  • आज सोशल मीडिया और इंटरनेट की नई भाषा शायद इमोजी ही है।
  • 17 जुलाई को दुनिया भर में लोग अलग अलग तरीके से वर्ल्ड इमोजी डे सेलिब्रेट करते हैं।कहीं जगहों पर कई लोग खुद इमोजी बनकर पार्टी में पहुंचते हैं।
  • 17 जुलाई यानि वर्ल्ड इमोजी डे के दिन लोगों से उनके पसंदीदा इमोजी को चुनने के लिए वोटिंग भी कराई जाती है।और वोटिंग के बाद एक सबका पसंदीदा इमोजी चुना जाता है ।
  • कहा जाता है कि सबसे पहले इमोजी (स्माइली) का इस्तेमाल 1648 में लिखी गई एक कविता में हुआ था।रॉबर्ट हैरिक ने “टू फॉर्च्यून ” नाम की अपनी कविता में स्माइली का प्रयोग किया था।
  • पहले मैसेज सिर्फ लिख कर ही भेजे जा सकते थे।लेकिन अब इमोजी कम डेटा का उपयोग करते हुए लोगों को अधिक प्रभावी ढंग से अपनी बात करने की अनुमति देता है।
  • पूरी दुनिया में लगभग 6 बिलियन इमोजी हर रोज एक दुसरे को भेजे जाते है।जिनमें से अकेले फेसबुक पर लगभग 6 करोड़ इमोजी का प्रयोग किया जाता है।

वर्ल्ड इमोजी डे दुनिया भर में मनाया जाता है

जो भी हो इमोजी ने हमारी सोशल मीडिया व इंटरनेट की दुनिया में अपनी पक्की जगह बना ली हैं।अब तो इसके बिना हमारे मैसेजेस पूरे ही नहीं होते हैं।सोशल मीडिया का हमारा यह दोस्त वाकई में बहुत शानदार है।दिल की बातों को अपनों के दिलों तक पहुंचाने में इसका कोई जवाब नहीं।

इसीलिए पल भर में आपको खुश करने वाले अपने इस दोस्त इमोजी के लिए वर्ल्ड इमोजी डे जरूर मनाइये

You are most welcome to share your comments.If you like this post.Then please share it.Thanks for visiting.

यह भी पढ़ें……

प्रधानमंत्री कौशल भारत योजना ?

इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक योजना?

क्या है प्रधानमंत्री जन धन योजना?

क्या है प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना?

क्या है मिशन शक्ति?

Leave a Reply

Your email address will not be published.