Tourist Place Near Nainital : खुर्पाताल झील (नैनीताल )

Tourist Place Near Nainital Uttarakhand : Khurpatal Lake खुर्पाताल झील (नैनीताल )

Tourist Place Near Nainital 

Khurpatal Lake (खुर्पाताल झील)

Tourist Place Near Nainital : यूं तो नैनीताल और नैनीताल झील अपनी खूबसूरती के कारण देश विदेश में एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल के रूप में मशहूर है। लेकिन नैनीताल कालाढुंगी मार्ग पर नैनीताल से महज 12 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है एक और प्राकृतिक रूप से खूबसूरत झील , खुर्पाताल झील (Khurpatal Lake) यह झील समुद्र तल से लगभग 39,000 फ़ीट की ऊंचाई पर स्थित है। 

Tourist Place Near Nainital : खुर्पाताल झील (नैनीताल )

झील का नाम क्यों पड़ा खुर्पाताल

खुर  “घोड़े के पैर के तलवे” को कहा जाता हैं। ऐसा माना जाता है कि इस झील का आकार घोड़े के पैर के तलवे के समान है। इसीलिए इसका नाम खुर्पाताल रखा गया।यह झील जिस जगह स्थित है वह एक छोटा सा गांव है। और इस गांव को खुर्पाताल के नाम से जाना जाता है। 

बेहद खूबसूरत हैं खुर्पाताल गांव 

उत्तराखंड राज्य के नैनीताल जिले में नैनीताल से महज 12 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है खुर्पाताल गांव। नैनीताल से कालाढूंगी की तरफ जाने वाले रास्ते में स्थित यह गांव चारों तरफ से ऊंची-ऊंची और हरी-भरी पहाड़ियों से घिरा है।सुंदर झील , प्राकृतिक सौंदर्य , ऊंचे ऊंचे देवदार के पेड़ व पाइन के पेड़ इस जगह की विशेषता है। 

इस गांव का मुख्य आकर्षण है यहां के फल व सब्जियों से लदे हरे भरे , सीढ़ीनुमा खेत , सर्पिल आकार के रास्ते या सड़कों जिनसे होकर खुर्पाताल गांव तक पहुंचा जा सकता है। 

एकदम शांत वातावरण , मन मोह लेने वाले प्राकृतिक दृश्य , किसी भी पर्यटक को शांति के कुछ दिन बिताने के लिए अपनी तरफ आकर्षित करते हैं। 

यह भी पढ़ें……डोल आश्रम एक पवित्र धाम व खूबसूरत पर्यटन स्थल 

 रंग बदलती हैं खुर्पाताल झील

आधा किलो मीटर व्यास वाली खुर्पाताल झील का आमतौर पर रंग हल्का हरा दिखाई देता है। यहां का पानी साफ व हल्का गर्म होता है। यहां तक कि सर्दियों में भी यहां के पानी में गर्माहट महसूस की जा सकती है। लेकिन इस झील की एक खासियत है कि यह साल में एक बार जरूर रंग बदलती है। 

जिसका कारण माना जाता है इस झील में पनपने वाले शैवाल।यह झील लगभग 40 प्रकार के शैवालों का घर है।और जब इन शैवालों के बीज बनते हैं।तब यह झील शैवालों के बीज के रंगों में रंगी नजर आती है। और झील का रंग बदला बदला नजर आता है। 

अंग्रेज शासकों की पसंदीदा जगह रही खुर्पाताल

 यह जगह आज से ही नहीं ,बल्कि ब्रिटिश काल से ही एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल के रूप में मशहूर है। अंग्रेज शासकों के लिए तो यह समय बिताने की सबसे सुंदर व पसंदीदा जगहों में से एक थी। यूं तो नैनीताल के आसपास कई सारे पर्यटन स्थल हैं जैसे भीमताल ,  भवाली नौकुचाया ताल , रानीखेत मुक्तेश्वर। लेकिन यह जगह अपने आप में बेहद अलग व अद्भुत है। 

मछली पकड़ने के शौकीन लोगों के लिए पसंदीदा जगह है खुर्पाताल

खुर्पाताल मछली पकड़ने के शौकीन लोगों के लिए पसंदीदा जगह है। यहां पर काफी मात्रा में मछलियां पाई जाती हैं। यहां पर मछली पकड़ने के शौकीन लोग अपना शौक पूरा करने के लिए पहुंचते हैं। और दिन भर झील किनारे बैठ कर मछली पकड़ने का आनंद लेते हैं।

19 वीं शताब्दी में यहाँ लोहे के औजार बड़ी मात्रा में बनाये जाते थे। जिन्हें खरीदने के लिए लोग दूर दूर से खुर्पाताल पहुंचते थे। लेकिन समय बदला और इसके साथ-साथ यहां पर लोहे के औजार बनने बंद हो गए। अब यह जगह हरी सब्जियों , पहाड़ी अनाज , पहाड़ी फल-फूल आदि के लिए प्रसिद्ध है। 

खुर्पाताल झील में जाने के लिए कोई सुरक्षित रास्ता नहीं है।न ही यहाँ पर नौकाविहार के कोई साधन हैं। जिस वजह से पर्यटक दूर से ही झील का दीदार करते हैं। ज्यादातर पर्यटक इस झील को मां मनसा देवी मंदिर के पास से ही देखना पसंद करते हैं। क्योंकि यहां से खुर्पाताल झील का खूबसूरत नजारा दिखाई देता है। 

खुर्पाताल क्षेत्र में निर्माण प्रतिबंधित हैं 

नवंबर 2016 में “उत्तराखंड उच्च न्यायालय” ने कई झीलों को “इको सेंसेटिव जोन” घोषित करने का आदेश दिया था।माननीय उच्च न्यायालय के आदेशानुसार कुछ झीलों के 2 से 5 किलोमीटर त्रिज्या के क्षेत्र में पेड़ों की कटाई नहीं की जा सकती हैं। और न ही किसी भी प्रकार का नया निर्माण कार्य किया जा सकता हैं यानि पेड़ों की कटाई व निर्माण कार्य दोनों ही प्रतिबंधित है।

खुर्पाताल झील को भी इस श्रेणी में शामिल किया गया है।इसीलिए यहां पर किसी भी तरह के पेड़ों की कटाई नहीं की जाती है। और कोई भी नये भवन इत्यादि का निर्माण नहीं किया जाता है।

कैसे पहुंचा जाए खुर्पाताल

खुर्पाताल नैनीताल कालाढुंगी मार्ग पर स्थित हैं। इसलिए यहां नैनीताल व कालाढुंगी दोनों जगहों  से पहुंचा जा सकता हैं।

यह भी पढ़ें…… जागेश्वर धाम क्यों हैं प्रसिद्ध ?

निकटतम हवाई अड्डा

खुर्पाताल नैनीताल से महज 12 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। पर निकटतम हवाई अड्डा पंतनगर में स्थित है।पंतनगर हवाई अड्डा से खुर्पाताल की दूरी लगभग 71.5 किलोमीटर है। लेकिन हवाई अड्डे से खुर्पाताल बस , टैक्सी या प्राइवेट वाहन के द्वारा ही पहुंचा जा सकता है।

निकटतम रेलवे स्टेशन

खुर्पाताल से निकटतम रेलवे स्टेशन , हल्द्वानी काठगोदाम रेलवे स्टेशन है। यहां से खुर्पाताल की दूरी लगभग 33 किलोमीटर है। लेकिन रेलवे स्टेशन से खुर्पाताल बस , टैक्सी या प्राइवेट वाहन के द्वारा ही पहुंचा जा सकता है।

 मनोरंजन के लिए क्या करें। 

प्राकृतिक नजारों का आनंद लीजिए , फोटोग्राफी आदि कीजिए ।

खुर्पाताल धूमने का सही समय। 

नया साल खुर्पाताल में मनाइए।अक्टूबर में दिवाली और दशहरे के आसपास , गर्मियों की छुट्टियों में, वैसे तो आप खुर्पाताल कभी भी आइए। हमेशा ही कुछ न कुछ अलग जरूर दिखेगा।

खुर्पाताल क्यों आये।

प्रकृति व पहाड़ों का आनंद लेने , एक से एक सुंदर दृश्यों को देखने के लिए , तनाव भरी जिंदगी में सुकून के दो पल बिताने के लिए , जीवन में एक नया उत्साह व जोश भरने के लिए। 

खुर्पाताल किसके साथ आये। 

परिवार के साथ , दोस्तों के साथ कुछ अच्छे पल बिताने के लिए , स्कूल कॉलेज के टूर के साथ।

भाषा ( Language )

हिंदी , अंग्रेजी , कुमाऊनी।

Tourist Place Near Nainital Uttarakhand : Khurpatal Lake खुर्पाताल झील (नैनीताल )

You are most welcome to share your comments.If you like this post.Then please share it.Thanks for visiting.

यह भी पढ़ें……

नैनीताल एक खूबसूरत पर्यटन स्थल 

अल्मोड़ा एक खूबसूरत सांस्कृतिक पर्यटन स्थल 

भीमताल एक खूबसूरत पर्यटन स्थल 

भवाली एक खूबसूरत पर्यटन स्थल 

मुक्तेश्वर एक खूबसूरत पर्यटन स्थल 

हिमनगरी मुनस्यारी पर्यटन स्थल की खासियत  

Leave a Reply

Your email address will not be published.