हिन्दी मुहावरे : अर्थ व वाक्य प्रयोग सहित,Muhavare (Idioms)

Hindi Muhavare With Meaning

हिन्दी मुहावरों के अर्थ वाक्य प्रयोग सहित , Hindi Muhavare (Idioms)

हिन्दी मुहावरे

Hindi Muhavare With Meaning

मुहावरा किसे कहते हैं ? 

मुहावरा उस वाक्यांश को कहते हैं जिसके प्रयोग से वाक्य के अर्थ में सुंदरता आती है। और वाक्य पहले से अधिक प्रभावशाली बन जाता हैं।

जब वाक्य का कोई अंश अपने सामान्य अर्थ को छोड़कर , किसी विशेष अर्थ में रूढ़ हो जाता है या बदल जाता है , तो उसे मुहावरा कहते हैं। 

जैसे “देश का प्रधानमंत्री बनना कोई गुड्डे गुड़ियों का खेल नहीं है “। गुड्डे गुड़ियों का खेल खेलना बहुत आसान होता है जो बचपन में शायद हर बच्चा खेलता है। लेकिन यहां पर गुड्डे गुड़ियों का खेल से मतलब “बहुत आसान काम” से है। 

यानि “देश का प्रधानमंत्री बनना कोई आसान काम नही” की जगह हमने “देश का प्रधानमंत्री बनना कोई गुड्डे गुड़ियों का खेल नहीं है”। कहा , जो पहले वाक्य से ज्यादा सुंदर व प्रभावशाली  लग रहा हैं। 

इसी तरह एक अन्य मुहावरा “घड़ों पानी पड़ना ” का अर्थ होता हैं  “बहुत लज्जित होना” ।

इसमें हमने वाक्य बनाया हैं “जब सबके सामने सुरेश का झूठ पकड़ा गया , तब सुरेश पर तो जैसे घड़ों पानी पड़ गया”। यहां पर घड़ों पानी से मतलब घड़ों से पानी डालना या पड़ना नहीं हैं। बल्कि लज्जित होने से है।

यानि एक छोटा सा वाक्यांश ( मुहावरा ) उस पूरे वाक्य की सुंदरता को और बढ़ा रहा है। साहित्यिक रूप से मुहावरे का प्रयोग भाषा में चुटीलापन , तीखापन , मिठास या माधुर्य लाने के लिए किया जाता है।  जिससे वाक्य और प्रभावशाली बन जाते हैं। मुहावरों के प्रयोग से सभी तरह के भाव जैसे प्रेम , क्रोध , हास्य, घृणा, ईर्ष्या आदि को प्रकट किया जा सकता है।

मुहावरों की खासियत

  1. मुहावरों की खासियत यह है कि उनका शब्दार्थ नहीं भावार्थ लिया जाता है। 
  2. मुहावरे में आने वाले शब्द अपने मूल अर्थ को छोड़कर अलग ही अर्थ देते हैं।
  3. मुहावरों के शब्दों को पर्यायवाची या समानार्थक शब्दों में नहीं बदला जा सकता। जैसे “आंख दिखाना” को हम “नयन दिखाना” नहीं कह सकते। या  “घाट घाट का पानी पीना ” को हम “घाट घाट का जल पीना” नहीं कह सकते।
  4. वाक्य बनाते समय मुहावरे का प्रयोग किया जाता है , उसके अर्थ का नहीं।
  5. मुहावरों का प्रयोग करते समय इनका क्रिया रूप बदल जाता है।
  6. मुहावरों के प्रयोग से बहुत कम शब्दों में वाक्य पूर्ण हो जाता है।
  7. कभी-कभी तो वक्ता मात्र एक मुहावरे में ही अपना पूरा कथन कह देता हैं। और सामने वाला भी कहने वाले का अभिप्राय आसानी से समझ जाता हैं , व भी स्पष्ट रूप से। 

मुहावरे , अर्थ  व वाक्य प्रयोग (Hindi Muhavare With Meaning)

मानव अंगों पर आधारित मुहावरे

हाथ तंग होना – पैसे ना होना। 

नौकरी चली जाने की वजह से आज कल मेरा हाथ थोड़ा तंग हो गया है। इसीलिए मैं अपने लिए एक नया मोबाइल नहीं खरीद पा रहा हूं। 

नजर से उतरना – नापसंद होना। 

अपनी ओछी हरकतों के कारण मोहन मेरी नजरों से उतर गया है। 

पाँव उखड़ना – लड़ाई में न टिक पाना। 

राम के युद्ध में उतरते ही रावण की सेना के पाँव उखड़ने लग गए। 

गाल फुलाना – रुठ जाना। 

मैंने अपने भाई को कहानी की किताब नहीं दी तो , वह गाल फुलाकर बैठ गया। 

कमर सीधी करना – विश्राम करना। 

दिनभर खेत में हल जोतने के बाद अब जरा कमर सीधी कर रहा हूं। 

जुबान लम्बी होना  – बहुत बातूनी होना। 

उस बातूनी सुरेश की संगत में रहने के कारण तुम्हारी जुबान भी बहुत लंबी हो गई है। 

फूटी आंख न सुहाना – नापसंद होना। 

महेश बहुत ही चापलूस व धोखेबाज है। इसीलिए वह मुझे फूटी आंख नहीं सुहाता। 

सीना तानना – मुकाबले को तैयार रहना। 

मैं आज सुबह यह देख कर हैरान रह गया कि सांप को देखते ही नेवला डरने के बजाय सीना तान कर खड़ा हो गया।

अपने मुँह मियाँ मिट्ठ बनना – अपनी प्रशंसा स्वयं करना।

मौसी वैसे तो अचार बहुत अच्छा बनती हैं। मगर मुझे हर वक्त उनका अचार के कारण अपने मुँह मियाँ मिट्ठ बनना कतई पसंद नहीं हैं। 

अन्धों में काना राजा होना  – मूर्ख व्यक्तियों के बीच कम ज्ञानवाले को भी विद्वान मानना। 

वैसे तो मैं कंप्यूटर के बारे में ज्यादा नहीं जानता , लेकिन आज अपने भांजे-भांजियों की कंप्यूटर सीखने की जिद के आगे मुझे अन्धों में काना राजा बनना पड़ा। 

Hindi Muhavare With Meaning

अक्ल का अन्धा – महामूर्ख होना। 

मुझे तो लगता है कि , रमेश तुम अक्ल के अंधे हो। कितना भी तुम्हें बताओ , तुम्हारी समझ में ही नहीं आता। 

अक्ल के घोड़े दौड़ाना – हवाई कल्पनाएँ करना। 

अगर तुम्हें जिंदगी में कुछ बनकर दिखना है तो तुम्हें कठोर परिश्रम करना ही होगा। सिर्फ अक्ल के घोड़े दौड़ाने से सफलता नही मिलेगी ।

अक्ल घास चरने जाना –  बुद्धि भ्रष्ट हो जाना। 

युधिष्ठिर की तो अक्ल घास चरने चली गई थी , जब उसने दुर्योधन के साथ जुआ खेलने का प्रस्ताव स्वीकार कर लिया।

अक्ल पर पत्थर पड़ना – बुद्धि नष्ट होना।

रमेश क्या तुम्हारी अकल में पत्थर पड़ गए , जो तुम परीक्षा के दिनों में भी पिक्चर देखने जा रहे हो। 

अक्ल के पीछे लाठी लिये फिरना – मूर्खतापूर्ण कार्य करना।

तुम स्वयं ही तो अपनी अक्ल के पीछे लाठी लिये फिरते हो , हम तुम्हारी क्या सहायता करें।

अंगद का पैर होना – असम्भव कार्य करना। 

वैसे तो मुझे गणित के सवाल हमेशा ही अंगद के पैर के समान लगते हैं। मगर फिर भी मैं उन्हें हल करने की कोशिश करता हूँ।

Hindi Muhavare With Meaning

जान हथेली पर रखना – जान की परवाह न करना। 

 नदी में डूबती हुई गाय को मोहन ने अपनी जान हथेली में रखकर बचाया।

तलवे चाटना – बहुत खुशामद करना। 

दूसरों के तलवे चाट कर अपना काम करवाने से तो बेहतर है , आत्मनिर्भर बनो। 

नजर पर चढ़ना – पसंद आना। 

उस अंधे बच्चे के साथ विनय का मधुर व्यवहार देखकर मुझे बड़ी खुशी हुई। उस दिन से विनय मेरी नजर पर चढ़ गया। 

निगाह फेरना / मुंह फेरना – बेरुखी दिखाना। 

आजकल लोग अपना काम निकलते ही मुंह फेरना / निगाह फेरना शुरू कर देते हैं। 

एड़ी रगड़ना – बहुत मेहनत करना। 

बैंक में नौकरी पाने के लिए तुम्हें रात दिन अपनी एड़ियों रगड़नी पड़ेगी। 

माथे पर बल पड़नाचेहरे पर क्रोध झलकना 

आज मैं स्कूल , होमवर्क करके नहीं ले गया था। तो मुझे देखते ही मास्टर जी के माथे पर बल पड़ गए। 

Hindi Muhavare With Meaning

अँगूठा दिखाना – इनकार करना

रमेश एक महीने पहले मुझसे मेरी गणित की किताब मांग कर ले गया था। अब जब भी , मैं उससे अपनी गणित की किताब वापस मांगता हूं तो वह मुझे अंगूठा दिखाने लगता है। 

फूले न समाना – अत्यधिक प्रसन्न होना।

सुरेश की बैंक में नौकरी लगने से उसके माता-पिता फूले नहीं समा रहे हैं। 

अन्धे के हाथ बटेर लगना –  इच्छित वस्तु का अचानक प्राप्त होना।

रहीम की लटरी खुलते ही ऐसा लगा मानो अन्धे के हाथ बटेर लग गई हो ।

संख्या वाले मुहावरे 

एक और एक ग्यारह होना – आपस में संगठित होकर शक्तिशाली होना। 

हम सब एक और एक ग्यारह होकर ही अपने राष्ट्र को आत्मनिर्भर बना सकते हैं।

एक से इक्कीस करना  – वृद्धि करना। 

लॉकडाउन के दौरान सोहन की दुकान बड़ी अच्छी चल पड़ी हैं। और वह बहुत जल्दी ही एक से इक्कीस हो गया।

दो – दो हाथ करना – लड़ाई झगड़ा करना। 

जब देखो तब तुम हर किसी से दो-दो हाथ करने को तैयार रहते हो।  

Hindi Muhavare With Meaning

तीन तेरह होना – तितर बितर होना। 

आज दंगाइयों को तीन तेरह करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस छोड़ी। 

चार दिन की चांदनी होना  – थोड़े समय का सुख होना। 

सरला की बहू दस दिन के लिए घर क्या आई। सरला यह सोच कर खुश हो गई की चलो चार दिन की चांदनी ही सही। लेकिन मुझे अब सुबह उठकर किचन में तो नहीं जाना पड़ेगा। 

छठी का दूध याद आना – मुसीबत में पड़ना।

कैलाश मानसरोवर यात्रा के दौरान उन पहाड़ियों पर चढ़ते ही मुझे छठी का दूध याद आने लग गया। 

दिमाग सातवें आसमान पर होना – अहंकारी होना। 

जब से महेशजी का बेटा विधायक बना है। तब से महेश जी का दिमाग सातवें आसमान हैं। 

पशुओं से संबंधित मुहावरे 

अपना उल्लू सीधा करना – अपना काम निकालना।

कुछ लोग अपना उल्लू सीधा करने के लिए कुछ भी करने को तैयार हो जाते हैं

घोड़े बेचकर सोना – निश्चिंत हो जाना। 

अपनी दसवीं की परीक्षा खत्म होते ही , मैं कुछ दिन घोड़े बेच कर सोना चाहता हूँ। 

गधे के सिर से सींग की तरह गायब होना –  एकदम गायब हो जाना या बिल्कुल दिखाई न देना । 

जब तक तुम्हारा काम नहीं बना था , तब तक तुम हरवक्त मेरे पीछे लगे रहते थे। लेकिन काम निकलने के बाद से तो तुम , गधे के सींग की तरह ही गायब हो गए हो। 

गीदड़ भभकी देना – झूठी धमकी देना

बहुत सुनी हमने तुम्हारी गीदड़ भभकी , हिम्मत हैं तो सामने आ कर मुकाबला करो।

Hindi Muhavare With Meaning

भैंस के आगे बीन बजाना – मूर्ख को समझाने का प्रयास करना।

बेटे मैं तुम्हें समझा-समझा कर हार गया हूँ। अब तो लगता हैं कि तुम्हें समझाना मतलब भैंस के आगे बीन बजाना ही हैं। 

घड़ियाली आंसू बहाना – दिखावे के लिए रोना या आंसू बहाना। 

शीला को अपनी सास के गुजर जाने का कोई दुःख नहीं है। वो तो लोगों के सामने सिर्फ घड़ियाली आंसू बहा रही है।

कागज का शेर होना – दिखावटी बहादुर होना। 

रमेश कागज का शेर बनने की कोई जरूरत नहीं है। सच में इस सांप को पकड़ कर दिखाओ , तो मैं मानूंगा कि तुम असली शेर हो । 

क्रोध आधारित मुहावरे (Hindi Muhavare With Meaning)

आग बबूला होना – बहुत क्रोधित होना। 

जैसे ही मैंने रमेश से अपना पैसा वापस माँगा तो वह आग बबूला होकर मुझे बुरा भला कहने लगा। 

आंखें दिखाना – धमकाना। 

तुम मुझे बात-बात पर आंखें ना दिखाओ। मैं सच बोल रहा हूं इसलिए मैं तुमसे डरने वाला नहीं हूं। 

आग में घी डालना – क्रोध को और भड़काना। 

रावण पहले से ही क्रोधित था। विभीषण ने भरी राजसभा में राम की तरह प्रशंसा कर आग में घी डालने का काम किया। 

ईट का जवाब पत्थर से देना –  दुष्ट को दुष्टता से ही सबक सिखाना। 

चीन ने भारतीय सीमा में प्रवेश करने के उद्देश्य से हमारी सेना के जवानों पर हमला कर दिया। लेकिन हमारे वीर सैनिकों भी चौकन्ने थे। उन्होंने ईट का जवाब पत्थर से दिया। 

खून का प्यासा होना – जान लेने पर उतारु होना। 

जमीन विवाद को लेकर महेश अपने छोटे भाई सुरेश से इतना क्रोधित हो गया कि वह उसके खून का प्यासा हो गया। 

Hindi Muhavare With Meaning

धूल चटाना – बुरी तरह हार जाना। 

भारतीय सेना ने सदैव पाकिस्तानी सेना को धूल ही चटाई है। 

बीड़ा उठाना –  दृढ़ संकल्प करना। 

हम युवाओं को ही हिमालय के पर्यावरण को बचाने का बीड़ा उठाना होगा। 

खून के आंसू रोना – बहुत दुःखी / परेशान होना। 

अभिषेक अभी भी समय है , संभल जाओ और खूब मन लगाकर पढ़ाई करो। वरना जीवन भर खून के आंसू रोना पड़ेगा । 

गागर में सागर भरना – थोड़े ही शब्दों में बहुत कुछ कह देना। 

गागर में सागर भरने की कला तो कोई शीला से सीखे , जिसने 4 पंक्तियों में ही कितनी खूबसूरती से बसंत ऋतु का वर्णन किया है। 

गर्दन पर सवार होना – काम निकलने तक पीछा ना छोड़ना। 

अरे महेश जब देखो तब तुम , मेरी गर्दन पर सवार रहते हो। तुम्हारे अलावा भी ऑफिस में मेरे कई और काम हैं। 

गिरगिट की तरह रंग बदलना – सिद्धांतहीन होना / बात बात में बदलना। 

गिरगिट की तरह रंग बदलना तो कोई हमारे क्षेत्र के माननीय विधायकजी से सीखे।

गांठ बांधना – अच्छी तरह से याद रखना। 

हर्षित तू इस बात को गांठ बांध के रख ले कि अगर तेरे बारहवी में अच्छे नंबर नहीं आए तो , तुझे दिल्ली यूनिवर्सिटी में प्रवेश नहीं मिलेगा। 

गुदड़ी का लाल होना – असाधारण प्रतिभाशाली होना । 

रमेश को देखकर यह लगता ही नहीं था कि वह आईआईटी टॉप कर देगा। लेकिन वह तो वाकई में गुदड़ी का लाल निकला। 

Hindi Muhavare With Meaning

गुड गोबर करना – बात बिगाड़ देना। 

मैंने मास्टर जी को बड़ी मुश्किल से गणित की एक्स्ट्रा क्लास लेने को मनाया था। लेकिन सुरेश ने आकर सब गुड गोबर कर दिया। 

गुड्डे गुड़ियों का खेल – बहुत आसान काम। 

डिस्ट्रिक्ट मैजिस्ट्रेट बनना कोई गुड्डे -गुड़ियों का खेल नहीं है। उसके लिए बहुत मेहनत की आवश्यकता होती है। 

घाट घाट का पानी पीना – अनुभवी होना। 

मेरे दादाजी अक्सर मुझसे कहते हैं कि तुम मुझे कुछ ना सिखाओ। मैंने घाट-घाट का पानी पीकर ही इतना बड़ा व्यवसाय खड़ा किया है। 

घाव हरा होना – पुराना दुःख याद आना। 

अपने शहीद पुत्र की मूर्ति को स्मारक स्थल पर देख कर चौहान जी के घाव हरे हो गए और उनकी आंखों से आंसू झर झर बहने लगे। 

घुटने टेकना – हार मान लेना। 

रानी लक्ष्मीबाई के अदम्य साहस और अद्भुत वीरता के आगे दुश्मन घुटने टेकने को मजबूर हो जाते थे। 

घड़ियां गिनना – इंतजार करना। 

अपनी बीमारी से लड़ते-लड़ते रामलाल अब इतना थक गया हैं कि वह अपनी मौत की घड़ियां गिनने लगा है। 

चिराग लेकर ढूंढना – कठिनाई से मिलना। 

महेश जैसा प्रतिभावान , गुणी , आज्ञाकारी लड़का तो चिराग लेकर ढूंढने से भी कहीं नहीं मिलेगा। 

चादर के बाहर पैर पसारना – आय से अधिक खर्च करना। 

इन्सान को हमेशा अपनी चादर देखकर ही पैर पसारने चाहिए। नहीं तो बेकार की मुसीबत सिर पड़ जाती है। 

चोली दामन का साथ – अत्यधिक घनिष्ठता या मित्रता होना। 

मां बेटियों का तो चोली दामन का जैसा साथ होता है। 

सीता और गीता को देख कर तो ऐसा लगता है कि मानो इनका चोली दामन का साथ हो। 

छठी का दूध याद आना – भारी संकट में पड़ना। 

जंगल में अचानक शेर को अपने सामने देखकर रमेश को छठी का दूध याद आ गया। 

छाती पर मूंग दलना – बहुत तंग करना। 

सुनीता के सास हमेशा सुनीता की छाती में मूंग दलती रहती है। 

जान में जान आना – मन में चैन आना। 

जिस गाड़ी में सुरेश दिल्ली जा रहा था। अचानक वह गाड़ी दुर्घटनाग्रस्त हो गई। यह सुनकर सुरेश की मां बहुत चिंतित हो गई। लेकिन कुछ देर बाद जब सुरेश का फोन आया। तब उसकी मां की जान में जान आयी। 

टस से मस ना होना – तनिक भी असर न होना। 

परीक्षायें नजदीक आता देख रोहन की मां ने रोहन को कितना समझाया। लेकिन रोहन टस से मस नहीं हुआ और दिन भर खेलता रहा।नतीजा यह रहा कि अब वह फेल हो गया। 

डंका बजाना – ख्यति मिलना। 

हमारे वैज्ञानिकों ने चद्रयान-2 का सफल परीक्षण कर पूरी दुनिया में अपनी प्रतिभा का डंका बजाया। 

मिश्रित मुहावरे 

अँगूठी का नगीना – अत्यधिक सम्मानित व्यक्ति होना।

एपीजे अब्दुल कलाम एक महान वैज्ञानिक और सुलझे हुए व्यक्ति थे। वो वाकई में अंगूठी पर नगीना समान ही थे। 

अन्त न पाना – रहस्य न जान पाना।

ब्रह्मांड अंनत हैं । इसीलिए अभी तक कोई भी इसका अंत न पा सका है। 

ईद का चाँद होना – कभी-कभी दर्शन देना।

 नौकरी लगते ही सुरेश तो जैसे मोहल्ले वालों के लिए ईद का चांद ही हो गया। 

अम्बर के तारे गिनना – नींद न आना।

अपने भविष्य की चिंता में सुरेश रात भर अंबर के तारे गिनता हुआ नजर आता है। 

अँगारे बरसना – अत्यधिक गर्मी पड़ना।

सितंबर का माह आ गया है लेकिन सूर्य अभी भी अंगारे ही बरसा रहा है। 

अन्धे की लाठी लकड़ीहोना – एकमात्र सहारा होना।

श्रवण कुमार अपने माता पिता के लिए अंधे की लाठी था। 

अपना-सा मुँह लेकर रह जाना – लज्जित होना।

रवि मास्टर जी से बहुत ज्यादा अकड़ रहा था। लेकिन जैसे ही मास्टर जी ने उसका झूठ पकड़ा तो अपना सा मुंह लेकर रह गया। 

आँखें या नजरें चुराना – बचते / छुपते रहना।

जब तक रमेश का मुझसे काम था तब तक वह मुझसे खूब दुआ सलाम करता था। लेकिन जैसे ही काम निकला अब वह मुझसे आंखें चुराने लगा है। 

अपने पाँव में कुल्हाड़ी मारना – अपना अहित स्वयं करना।

सौरभ को अपने ऑफिस में काम दिला कर मैंने खुद अपने पैर पर कुल्हाड़ी मारी। अब वह जब देखो तब ऑफिस वालों से मेरी बुराइयां करता रहता है। 

आकाश-पाताल एक करना – अत्यधिक परिश्रम करना।

मैंने आकाश पाताल एक किया , तब जाकर आज मैं आर्मी में कैप्टन के पद पर तैनात हूं। 

आँखें नीची होना – लज्जित होना।

गणेश कोई ऐसा काम ना करो जिससे तुम्हें दूसरों के आगे अपनी आंखें नीची करनी पड़े। 

आँख दिखाना – क्रोधित होना।

किसी भी समस्या का हल आपस में बैठकर निकाला जा सकता है। यूं बार-बार आंखें दिखाना ठीक नहीं है। 

दिमाग आसमान पर चढ़ना – अत्यधिक घमण्ड होना।

शर्मा जी के घर जब से पुलिस इंस्पेक्टर बहू आ गई है।तब से उनका दिमाग आसमान में ही चढ़ गया हैं। 

ऊँट के मुँह में जीरा – बहुत कम मात्रा में कोई वस्तु होना ।

दिन भर से भूखे व पेटू रमेश के लिए तो चार रोटी और एक कटोरी चावल ऊंट के मुंह में जीरा जैसा ही था। 

उन्नीस बीस का अंतर होना – बहुत कम अंतर होना।

गंगा और जमुना की शक्ल इतनी मिलती-जुलती है कि उनको पहचान पाना मुश्किल है। वैसे भी उनकी शक्ल में बस उन्नीस बीस का ही अंतर हैं। 

उड़ती चिड़िया के पर गिनना – अंदर या रहस्य की बात जान लेना। 

दादाजी अक्सर कहते हैं कि मैने सारी उम्र इतनी ठोकर खाई हैं कि अब में उड़ती चिड़िया के पर भी गिन सकता हूं। 

ईंट का जबाब पत्थर से देना – मजबूती से जबाब लेना। 

गौरव हमेशा सौरभ को परेशान करता रहता था। लेकिन इस बार जब गौरव सौरभ को परेशान कर रहा था तो सौरभ ने भी इसका ईट का जवाब पत्थर से दिया। 

आँख का तारा – बहुत प्यारा होना। 

हर बच्चा अपने मां-बाप की आंखों का तारा होता है। 

अपने मुँह मियाँ मिट्ठू बनना –  अपनी प्रशंसा आप करना। 

लोग आपके काम की प्रशंसा करें तो बहुत अच्छी बात है लेकिन अपने मुंह मियां मिट्ठू बनना अच्छी बात नहीं है

अगर मगर करना – काम से बचने के बहाने ढूँढना।

कमल को कोई भी काम करने के लिए कहो तो वह काम करने के बजाय अगर मगर करने लगता है। 

अधजल गगरी छलकत जाए – अपने ज्ञान की शेखी बघारना।

हमारे काकाजी जड़ी बूटियों के बारे में थोड़ा बहुत जानते हैं। लेकिन जब भी उनसे कुछ पूछो तो वो इतना अधिक बोलते हैं कि पूछो मत। वह कहते हैं ना कि अध जल गगरी छलकत जाए। 

अपना राग अलापना – दूसरों की बातों को अनसुनी करके अपनी ही बात कहना।

वर्मा जी अपने आप को बहुत बुद्धिमान समझते हैं और कभी भी दूसरों की बातों को सुनना नहीं चाहते हैं। बस हर वक्त अपना राग अलापते रहते हैं। 

अपने पैरों पर खड़ा होना – आत्मनिर्भर / स्वावलम्बी होना।

अगर महिलाओं को इस समाज में इज्जत से जीना है तो उन्हें अपने पैरों पर खड़ा होना ही होगा।  

आँखें खुल जाना – वास्तविकता का पता चलना ।

रमेश को लगता था कि उसने अपना दसवीं का कोर्स अच्छे से पूरा कर लिया है। लेकिन प्री-बोर्ड की परीक्षा में आए नंबरों ने उसकी आंखें खोल दी। 

आँखों में धूल झोंकना – धोखा देना।

सीता की आंखों में धूल झोंक कर एक अजनबी उसके सारे गहने उड़ा ले गया। 

आग-बबूला होना – अत्यधिक क्रोध करना।

जब सुरेश के पिताजी को पता चला कि सुरेश 12वीं कक्षा में फेल हो गया है तो वो आग बबूला हो गए। 

आग में घी डालना – क्रोध को और अधिक बड़ा देना।

परशुरामजी शिव धनुष टूटने से पहले ही बहुत क्रोधित थे। लक्ष्मण की बातों ने उनेक क्रोध में आग में घी डालने का काम किया। 

आपे से बाहर होना – बहुत अधिक क्रोधित होना ।

बात बात में विधायक महोदय आपे से बाहर हो जाते हैं। 

आसमान टूट पड़ना – अचानक घोर विपत्ति आना।

अपनी नौकरी छूटने की वजह से गणेश पहले ही बहुत परेशान था लेकिन अब बीवी की नौकरी छूटने के बाद तो उसे ऐसा लग रहा है जैसे उसके सिर पर पूरा आसमान ही टूट पड़ा हो। 

आस्तीन का साँप – कपटी मित्र ।

मैंने गौरव को अपना दोस्त समझ कर उसकी नौकरी अपनी कंपनी में ही लगवा दी। लेकिन वह तो आस्तीन का सांप निकला। और उसने मुझे ही नौकरी से निकलवा दिया।

इज्जत मिट्टी में मिलाना – मान-मर्यादा खत्म करना।

शर्माजी की मोहल्ले में बहुत इज्जत थी लेकिन उनके लड़के ने दंगाइयों का साथ देकर उनकी इज्जत मिट्टी में मिला दी। 

उँगली पर नचाना – इशारे या संकेत पर कार्य कराना।

 गणित के नए गुरु जी को अपने क्लास के बच्चों को अपने इशारों पर नचाना खूब आता है। 

उल्टी गंगा बहाना – परम्परा के विपरीत काम करना।

 बहू की सेवा सास कर रही है। यह कैसी उल्टी गंगा बह रही है। 

उल्लू सीधा करना – किसी को बेवकूफ बनाकर अपना काम निकालना।

हमेशा ऐसी बात मत करो जिससे सिर्फ अपना ही उल्लू सीधा होता हो। कभी कभी दूसरों के हित की बात भी कर लिया करो। 

एक आँख से देखना – सबके साथ एक समान व्यवहार करना।

भगवान राम हमेशा अपने प्रजाजनों को एक आंख से ही देखते थे। 

एक अनार सौ बीमार – एक वस्तु के लिए बहुत-से व्यक्तियों द्वारा प्रयत्न करना।

सिंचाई विभाग में क्लर्क के कुल 10 पदों में भर्ती होनी है और आवेदन 1, 000 से अधिक लोगों ने किया है। यह तो एक अनार सौ बीमार वाला हाल है। 

एक और एक ग्यारह होना – एकता में शक्ति होना ।

रमेश मोहन से लड़ने हमेशा अकेले ही जाता था और हार जाता था। लेकिन आज वह अपने भाई को साथ लेकर गया और जीत कर आया। वो कहते हैं ना कि एक और एक मिलकर ग्यारह हो जाते हैं। 

एक हाथ से ताली नहीं बजती – झगड़ा एक ओर से नहीं होता।

पार्वती यूं ही किसी से नहीं लड़ती हैं। जरूर ज्योति ने भी कुछ कहा ही होगा , क्योंकि कभी भी एक हाथ से ताली नहीं बजती है। 

कन्धे से कन्धा मिलाना – सहयोग देना।

सभी नागरिकों के कंधे से कंधा मिलाकर कार्य करने से ही देश तरक्की के रास्ते पर चल पड़ेगा। 

कच्चा चिट्ठा खोलना – गुप्त भेद खोलना।

युद्ध के दौरान विभीषण ने रावण का सारा कच्चा चिट्ठा राम के आगे खोल दिया , जिससे युद्ध में उनकी राह आसान हो गई। 

कमर टूटना – हिम्मत पस्त होना।

रमेश का बिजनेस पहले से ही घाटे में चल रहा था। लॉक डाउन की वजह से उनका व्यवसाय बिल्कुल ही चौपट हो गया जिससे उनकी कमर ही टूट गई। 

कलेजा छलनी होना – कड़ी बात से दिल दुखना।

पति की मृत्यु से राजीव की मां पहले ही बहुत दुखी थी। लेकिन अब राजीव की कड़वी-कड़वी बातों ने उसकी मां का कलेजा ही छलनी कर दिया। 

काठ का उल्लू होना – मूर्ख होना।

हर जगह अपने आप को काठ का उल्लू साबित करना जरूरी है क्या ? कहीं तो थोड़ा सा अपना दिमाग भी चला लिया करो। 

कान खड़े होना – सचेत होना।

शेर की आवाज सुनकर ही हिरण के कान खड़े हो गए। 

अक्ल का दुश्मन – मूर्ख होना।  

गणेश तुम अपनी परीक्षाओं के दौरान भी फिल्में देख रहे हो। तुम से बड़ा अक्ल का दुश्मन और कौन होगा। 

Hindi Muhavare With Meaning

हिन्दी मुहावरे : अर्थ व वाक्य प्रयोग सहित , Muhavare (Idioms)

हमारे YouTube channel  से जुड़ने के लिए इस Link में Click करें।

2 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.