Ayushman Bharat Yojana की क्या है खासियत व फायदे।

आयुष्मान भारत योजना , राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा योजना 2018 , मोदी केयर या नमो केयर योजना 2018 , Ayushman Bharat Yojana in Hindi or Modicare Yojana ,Ayushman Bharat Yojana eligibility ,Ayushman Bima Policy ,प्रधानमन्त्री जन आरोग्य योजना।

Ayushman Bharat Yojana

हमारे देश में ही नहीं वरन दुनिया के कई देशों में हर साल लाखों लोग समय पर इलाज ना मिलने के कारण या पैसे की परेशानी के कारण या फिर शिक्षा व जागरूकता के अभाव की वजह से अपनी जान गवा बैठते हैं। जबकि इनमें से कई लोगों की जान को आसानी से बचाया जा सकता है।

इसमें अधिकतर गरीब व निम्न तबके के बेसहारा लोग शामिल रहते हैं।जिनके पास रहने के लिए पक्का तो छोडिए कच्चा घर या झोपडी भी नहीं होती है और दो जून की रोटी का जुगाड़ करना भी मुश्किल होता है।

Ayushman Bharat Yojana की क्या है खासियत व फायदे।

ऐसे में वो लोग अस्पताल में होने वाले लाखों रूपये का खर्चा कहां से वहन करेंगे।ऐसे ही लोगों के स्वास्थ्य की सुरक्षा की जिम्मेदारी प्रधानमंत्री की आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Yojana) ने उठाया है जिसके तहत गरीब और बेसहारा लोगों के इलाज के लिए हर साल पांच लाख तक का बीमा कबर मिलेगा।

जानें …क्या हैं मेक इन इंडिया प्रोग्राम ?

आयुष्मान भारत योजना का बजट 

प्रधानमंत्री की इस महत्वाकांक्षी योजना में शामिल हर परिवार को सालाना इलाज के लिए 5 लाख रूपये का बीमा कबर मिलेगा।आयुष्मान भारत योजना के तहत देश के 10 करोड़ परिवारों के लगभग 50 करोड़ लोगों को सीधा फायदा होगा।

इसमें ग्रामीण इलाकों के लगभग 8.05 करोड़ तथा शहरी क्षेत्रों के 2.33 करोड़ गरीब और निचले तबके के (BPL) परिवारों को लाभ मिलेगा।आयुष्मान भारत योजना के लिए केंद्र सरकार ने अभी तक 10,000 करोड़ रुपए आवंटित कर दिए हैं।

Ayushman Bharat Yojana की Bima Policy का सारा खर्चा राज्य सरकार व केंद्र सरकार मिलकर उठाएंगे ।इस योजना का 60% केंद्र सरकार व 40% खर्चा राज्य सरकार उठाएगी और योजना के प्रीमियम का भुगतान केंद्र व राज्य सरकारें ही मिलकर करेंगे।

लेकिन योजना को लागू करने की पूरी जिम्मेदारी राज्य सरकार की ही रहेगी।आयुष्मान भारत योजना का सही तरीके से क्रियान्वन हो इसकी जिम्मेदारी स्वास्थ्य एवं परिवार मंत्रालय को सौंपी गई है।

विश्व पर्यटन दिवस क्यों मनाया जाता है जानिए

आयुष्मान भारत योजना की शुरुआत

Ayushman Bharat Yojana (ABNHPS) की शुरुआत 1 फरवरी 2018 को तब हुई जब बजट सत्र के दौरान वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इस योजना को पूरे भारत वर्ष में लागू करने की घोषणा की थी । इस योजना से लगभग 10 करोड भारतीय परिवारों को (यानी करीब करीब 40% भारतीयों )को सीधे सीधे फायदा पहुंचने की उम्मीद है।

इसी के साथ 30 अप्रैल 2018 को आयुष्मान दिवस मनाया गया और 15 अगस्त 2018 को दिल्ली के लाल किले की प्राचीर से प्रधानमंत्री  ने घोषणा की कि 25 सितंबर 2018 से यह पूरे देश में यह लागू हो जानी चाहिए।

आयुष्मान भारत योजना में कौन होगा लाभार्थी वर्ग (Ayushman Bharat Yojana eligibility)

Ayushman Bharat Yojana में लगभग सभी गरीब व निम्न तबके के लोगों (BPL कार्ड धारक )को शामिल किया गया है ।कुछ निचले तबके के तय पेशेवर लोग तथा ग्रामीण इलाकों में रहने वाले कमजोर परिवारों को भी इसमें शामिल किया गया है।क्योंकि इस योजना में लाभ मिलने का आधार आर्थिक रखा गया हैं यानी आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग।

जम्मू कश्मीर में धारा 370 व 35 A खत्म ? जानिए इससे क्या होगा फायदा?

आयुष्मान भारत योजना की विशेषता ( Ayushman Bharat Yojana Details)

  • Ayushman Bharat Yojana के माध्यम से लोगों को स्वास्थ्य संबधित समस्याओं से निपटने में आसानी होगी।क्योंकि इस योजना में शामिल हर परिवार को साल में 5 लाख रूपये राशि का बीमा कवर मिलेगा।
  • इसमें भी एक खास बात यह है कि परिवार का आकार,आयु वर्ग तथा महिला या पुरुष से संबंधित कोई भी प्रतिबंध नहीं है।यानी परिवार चाहे कितना ही बड़ा क्यों न हो,सदस्य चाहे महिला या पुरुष हो ,या किसी भी आयु वर्ग का हो।प्रत्येक व्यक्ति को योजना का लाभ दिया जाएगा।इसका मुख्य उददेश्य है कि परिवार का कोई भी सदस्य इलाज से महरूम ना रहे।
  • सामाजिक आर्थिक जाति जनगणना एसईसीसी 2011(SECC-2011) के डेटाबेस को आधार मानकर पात्रता तय की जाएगी ।यानी लाभ लेने के इच्छुक व्यक्ति का नाम इस जनगणना रजिस्टर में रजिस्टर होना अनिवार्य है।
  • लाभार्थियों को आर्थिक आधार पर चुना जायेगा।यानी आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग।
  • एक बार पॉलिसी लेने के बाद से परिवार के हर सदस्य को बीमा का लाभ मिलेगा।

जानें ..क्या है इंटीग्रेटड टीचर एजुकेशन प्रोग्राम ?

  • पॉलिसी लेने के पहले दिन से ह़ी यह सुबिधा मिलने लगेगी ।
  • सरकार द्वारा चयनित प्राइवेट अस्पताल हो या सरकारी अस्पताल हर जगह मुफ्त इलाज की सुविधा होगी।
  • अस्पताल में भर्ती होने के बाद से होने वाले सभी खर्चो (इलाज व दवायें के खर्चे) तथा घर आने जाने का भत्ता भी सरकार द्वारा ही देय होगा। इसमें अस्पताल के सारे खर्चों के साथ-साथ डिस्चार्ज होने के बाद के खर्चे भी शामिल किए गए हैं।परिवार द्वारा किसी भी तरह का कोई भी पैसे का भुक्तान नहीं किया जायेगा।
  • कोई भी Prescribed ID को ले जा कर किसी भी हॉस्पिटल में इलाज की सुबिधा मुफ्त पा सकते हैं।
  • यह पूरी तरह से कैशलेस सुबिधा है।

आयुष्मान भारत योजना का लाभ पूरे परिवार को

जानें मिशन चंद्रयान-2 के बारे में ?

बीमारियां व उसका इलाज ( Ayushman Bhara Diseases covered)

Ayushman Bharat Yojana के द्वारा लगभग सभी गंभीर बीमारियों का इलाज हो सकेगा। इस समय लगभग 1,354 पैकेज बनाये गये है। बीमारीयों का इलाज आयुर्वेदिक, यूनानी ,योग पद्धति से किया जाएगा।

आयुष्मान भारत योजना से जुड़ने के लिए आवश्यक बातें (How to apply in Ayushman Bharat Yojana)

Ayushman Bharat Yojana के तहत अपना रजिस्ट्रेशन करना अनिवार्य है।रजिस्ट्रेशन करने के लिए आधार कार्ड जरूरी माना गया है। तथा आपका बैंक अकाउंट आपके आधार कार्ड से जुड़ा होना चाहिए। अपनी पात्रता साबित करने के लिए अपना पहचान पत्र, आय प्रमाण पत्र, आयु प्रमाण पत्र आदि भी जमा करने होगे।

जानें ..क्या है नंदा गौरा कन्या धन योजना ?

CSC सेंटर (CSC Ayushman Bharat Yojana)

Ayushman Bharat Yojana से जुड़ी सभी जानकारियां CSC सेंटर के माध्यम से उपलब्ध रहेगी।इसके लिए लाभार्थी को अपने नजदीकी CSC सेंटर पर जाना होगा। CSC सेंटर के माध्यम से ही लाभार्थी का रजिस्ट्रेशन होगा।साथ ही साथ रजिस्ट्रेशन करने हेतु यहाँ फार्म भी उपलब्ध रहेगा।जरूरी दस्तावेजों के वेरिफिकेशन (Verification) ,स्कैनिंग (Scanning), अपलोडिंग (Uploading) ,तथा परिवार कार्ड  को प्रिंट (Print)करने का भत्ता “आम सेवा केंद्र “से हर लाभार्थी तो मिलगा।

आयुष्मान भारत योजना की बीमा पाॉलिसी (Ayushman Bima Policy )

यह भी अन्य तरह की  बीमा पाॉलिसी की तरह ही एक बीमा पाॉलिसी है। जो इस योजना में वैध रूप से रजिस्ट्रर व्यक्ति तथा उसके परिवार के इलाज में हर तरह की वित्तीय सहायता प्रदान करेगा।इसमें व्यक्ति को 1200रु का प्रीमियम प्रतिवर्ष भरना पड़ेगा।बाकी का खर्चा सरकार उठाएगी।यही बीमा पूरे परिवार कवर करेगी।

स्वास्थ्य एवं आरोग्य जागरूक केंद्र या (Health Wellness Center)

Ayushman Bharat Yojana के तहत 1.5 लाख Health Wellness Center खोलने की व्यवस्था भी की गई है जिसमें दवाइयां उपलब्ध रहेंगी तथा जांच भी की जाएगी। हर बड़ी पंचायत में हेल्थ सेंटर को बदलकर उनकी जगह स्वास्थ्य एवं जागरूक खोले जाएंगे ।जो लोगों की मदद के लिए हर वक्त तैयार रहेंगे। इस योजना के लिए 1200 करोड़ रुपए का धन आवंटित किया गया है।

क्या है किसान सम्मान निधि योजना?जानिए  

आयुष्मान भारत योजना के तहत जहां हर परिवार को इलाज के लिए सालाना 5 लाख  तक का बीमा कबर मिलेगा।वही सरकारी व चुने हुए निजी अस्पतालों में कैशलेस सुबिधा मिलेगी ।24 नए मेडिकल कॉलेज व अस्पताल बनाए जाएंगे।ताकि लोगों का मुफ्त में इलाज समय पर संभव हो सके।

कुछ चुनिंदा हॉस्पिटल व हेल्थ केयर सेंटर को Health Wellness Center में बदला जाएगा और इसमें जरूरत के हिसाब से सारी सुविधाएं मुहैया कराई जाएगी जिससे जरूरतमंदों को समय पर सहायता मिल सके।लगभग 6,000 निजी अस्पतालों को भी Ayushman Bharat Yojana में शामिल किया गया है ।जिसमें कुछ तो बड़े नामी तथा अत्याधुनिक उपकरणों से सुसज्जित अस्पताल भी शामिल है।

आयुष्मान भारत योजना की शुरुआत

Ayushman Bharat Yojana के प्रथम चरण की शुरुआत 14 अप्रैल 2018 को भीमराव अंबेडकर जयंती के शुभ अवसर पर प्रधानमंत्री ने छत्तीसगढ़ के बीजापुर में प्रथम हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर का उद्घाटन कर किया।

जानें ..कौन है उत्तराखंड के विकास पुरुष ?

आयुष्मान मित्र मदद करेंगे आयुष्मान भारत योजना में (Ayushman Mitra)

Ayushman Bharat Yojana को सुचारु रुप से चलाने के लिए फ़िलहाल लगभग एक लाख लोगों को उचित प्रशिक्षण देकर इनको तुरंत बिभिन्न हॉस्पिटलों व Health Wellness Centers में नियुक्त किया जाएगा।आयुष्मान मित्र इस योजना को सुचारु रुप से चलाने में मदद करेंगे।

आयुष्मान मित्रों को प्रतिमाह रु 15,000/- का वेतन दिया जाएगा।साथ ही साथ इनको प्रोत्साहित करने के लिए प्रति लाभार्थी रु 50/- दिया जाएगा।आयुष्मान मित्रों की नियुक्ति सरकारी अस्पतालों ,प्राइवेट अस्पतालों व कॉल सेंटर में की जाएगी।इसी के तहत कौशल विकास मंत्रालय के साथ एक समझौता किया गया है।

इसके अलावा केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने इंदिरा गाँधी नेशनल यूनिवर्सिटी के साथ एक समझौता किया है।इससे स्वास्थ्य सेवाओं में बढ़ती आवश्यकताओं की पूर्ती हेतु युवाओं को प्रशिक्षित किया जा सकें।अभी दस शाॅर्ट टर्म कोर्स शुरू किये गये हैं।अगले चार वषों में लगभग चौदह लाख युवाओं को प्रशिक्षित करने का लक्ष्य हैं ।

राष्ट्रीय युद्ध स्मारक की क्या है खास बात?जानिए 

बीमा मॉडल (Ayushman bima policy model )

इस वक्त आयुष्मान भारत स्वास्थ्य बीमा योजना के सीईओ इंद्रभूषण है।जिनके अनुसार यह योजना बीमा मॉडल ,ट्रस्ट मॉडल व मिश्रित मॉडल के रूप में काम करेगी।देश के अलग अलग राज्यों ने अपनी रूचि व जरूरत के अनुसार मॉडलों को अपनाया है लेकिन कुछ राज्य अभी भी असमंजस में है तो कुछ ने इस योजना में शामिल होने से  इन्कार कर दिया हैं । 

सरकार की अधिकारिक website name:-

www.abnhpm.gov.in

Toll Free no :- 1800-180-1104

Updates 

28/08/2018

Ayushman Bharat Yojana अब उत्तराखंड में “अटल आयुष्मान उत्तराखंड योजना (आयू)के नाम से जानी जाएगीऔर इस योजना को 25 सितम्बर से राज्य भर में एक साथ लागू किया जायेगासरकारी कर्मचारियों तथा अधिकारियों के साथ ही राज्य का प्रत्येक परिवार इस योजना में कवर होगा ।इन्हें पांच लाख तक के इलाज की नि:शुल्क ब्यवस्था दी जायेगी।इस योजना का लाभ राज्य के सभी 22 लाख परिवारों को मिलेगा।

Updates

23 सितम्बर 2018

दुनिया की सबसे बड़ी हेल्थकेयर स्कीम आयुष्मान भारत योजना -प्रधानमन्त्री जन आरोग्य योजना को प्रधानमन्त्री  नरेंद्र मोदी रविवार को (23 सितम्बर 2018 ) रांची में हरी झंडी दिखायेगे ।यह योजना एक साथ 26 राज्यों तथा 6 केंद्र शासित प्रदेशों में शुरू की जाएगी।

Updates 25/12/2018

उत्तराखंड में अटल आयुष्मान योजना आज यानी 25 दिसंबर 2018 से शुरू हो जाएगी। इसका विधिवत उद्घाटन देहरादून स्थित रेसकोर्स मैदान में मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत द्वारा किया जाएगा। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई के जन्मदिन पर शुरू हो रही इस योजना में 60 साल से अधिक आयु के बुजुर्गों और 14 साल तक के आयु के बच्चों को सरकार निशुल्क ओपीडी की सुविधा देने जा रही है।

15 फरवरी 2019 से बुजुर्गों व बच्चों को निशुल्क ओपीडी के साथ इलाज की सुविधा भी मिल सकती है।प्रदेश में 23 लाख राशन कार्ड धारकों के साथ केंद्र के एसीसी सर्वे में चयनित 5.37 लाख लोगों व 2012 की वोटर लिस्ट में जिन लोगों के नाम दर्ज हैं वो योजना में निशुल्क इलाज के लिए पात्र माने जाएंगे। इस अवसर पर योजना की वेबसाइट व मोबाइल एप भी लॉन्च किया जाएगा। एप व वेबसाइट के जरिए कोई भी व्यक्ति योजना में अपनी पात्रता के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकता है।

एप में वोटर id नंबर और नाम डालकर पता लगा सकते हैं कि आप का नाम है या नहीं। नाम होने पर अपना या अपने परिवार के सदस्यों का नाम जोड़ सकते हैं।

Ayushman Bharat Yojana में निशुल्क इलाज करने पर निजी अस्पतालों की तर्ज पर सरकारी अस्पतालों को भी भुगतान किया जाएगा। यदि व्यक्ति का इलाज सरकारी अस्पताल में होता है तो उस पर आने वाला खर्च का भुगतान संबंधित अस्पताल को होगा ।जिसमें से 50% राशि योजना को संचालित कर रही सोसायटी को मिलेगा। जबकि 25% राशि अस्पताल में चिकित्सा उपकरणों ,दवाइयों और अन्य व्यवस्थाओं के लिए दी जाएगी।

इलाज पर होने वाले खर्च का 15% डॉक्टरों को प्रोत्साहन राशि के रूप में दिया जाएगा और 10% राशि इंसेंटिव के रूप में नर्सों व अन्य कर्मचारियों को दी जाएगी।

यानि 100 रूपये में से

50%- अस्पताल, 25%- उपकरणों व दवाईयां ,15%- डाक्टर को प्रोत्साहन राशि,10%-नर्स वह अन्य

Ayushman Bharat official Website ज्यादा जानकारी के लिए

Ayushman.uttrakhand.org  में visit करें।

You are welcome to share your comments .If you like this post then please share it.Thanks for visiting.

यह भी पढ़ें ..

क्या है इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक   ?

मशरूम गर्ल दिब्या रावत ?

उत्तराखंड की तीजनबाई ?

एक प्रेरणादायक कहानी ..जज का न्याय ?

Leave a Reply

Your email address will not be published.