Bhimatal ,Tourist Place near Nainital

Bhimatal ,Tourist Place near Nainital (Uttarakhand ), Bhimtal Lake , Bhimtal Weather , Bhimatal in Nainital , भीमताल एक दर्शनीय पर्यटक स्थल in hindi 

Bhimatal In Nainital 

Bhimatal ,Tourist Place near Nainital

हिंदू धर्म के पौराणिक महाकाव्य महाभारत में धृतराष्ट्र व पांडु दो भाई थे। जिसमें से महाराज पांडु के पाँँच पुत्र थे। उन्ही में से तीसरे पुत्र का नाम था भीम। जो अत्यधिक बलशाली थे ।कहा जाता है कि उन्होंने अपने बल व बुद्धि का प्रयोग कर इस जगह पर भूमि को खोदकर एक विशाल झील का निर्माण किया ।जिसे आज लोग भीमताल (यानी कि भीम के आकार की ताल) के नाम से जानते हैं।

Christmas Day क्यों मनाया जाता है  जानिए 

Bhimatal Lake

Bhimatal Lake की लंबाई लगभग 1670 मीटर चौड़ाई 427 मीटर और गहराई लगभग 30 मीटर है। समुद्रतल से लगभग 1335 मीटर की ऊंचाई पर स्थित यह त्रिभुजाकार झील नैनीताल जिले की सबसे बड़ी झील मानी जाती है ।

Bhimatal , A beautiful Tourist Place near Nainital 

भीमताल एक बहुत ही सुंदर पर्यटन स्थल है।जो एक सुंदर सी घाटी पर बसा है ।यूं कहें कि एक सुंदर सी घाटी जिसके हृदय में एक भीम आकार की झील (ताल) है तो गलत नही होगा। इस झील ( Bhimatal Lake) के बीचो-बीच एक अत्यंत मनमोहक टापू है। जिसमें हरे-भरे पेड़ पौधों के बीच एक खूबसूरत विश्वस्तरीय मछली घर (Fish Aquarium) है। और इस टापू पर पहुंचने के लिए नौकायों हर वक्त उपलब्ध रहती हैं।

झील ( Bhimatal Lake) में नौका विहार करते पर्यटक और झील में तैरती व पर्यटको के दिए गए दानों को चुगती सुंदर सफेद पंक्तिबद्ध व मधुर ध्वनि में कलरव करती बतखों सबका मनमोह लेती  हैं।झील के चारों तरफ सुंदर हरी भरी वादियां , मन मोह लेने वाले दृश्य दिखाई देते हैं।

Inspirational New Year Quotes (जरूर पढ़िए व अपने दोस्तों को भेजिए )

गर्मियों में खास कर मई जून माह में Bhimatal पर्यटकों से भरा रहता है। जहाँ देखो पर्यटक ही पर्यटक ,अलग-अलग राज्यों व देशों से , अलग-अलग भाषा बोलते हुए, अलग-अलग पहनावे के साथ दिखते हैं।मगर भीमताल में सब एक हो जाते हैं। और प्रकृति की गोद में बैठकर प्राकृतिक सौंदर्य का आनंद लेते हैं।

Bhimatal मतलब सुंदर पिकनिक स्थल ,एक बड़ी सी झील ,ढेरों पर्यटक , अथाह प्राकृतिक सौंदर्य … इससे ज्यादा और क्या चाहिए छुट्टियां बिताने को ???

अल्मोड़ा एक खूबसूरत पर्यटन स्थल जानिए 

भीमताल में देखने लायक जगहें

(Tourist Place in Bhimatal)

 झील ( Bhimatal Lake)

एक छोटा सा शहर है। जो दो भागों में बंटा है। तल्ली भीमताल और मल्ली भीमताल और दोनों को जोड़ती है एक सड़क।जो झील के समानांतर चलती है।झील पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र है ।क्योंकि यहां पर खुली झील में नौका विहार करते हुए भीमताल की सुंदर वादियों का आनंद तो लेते ही हैं।साथ ही साथ तालाब में खूबसूरत मछलियों को भी देख सकते हैं।

झील की एक और खासियत है कि यहां से निकलने वाली दो नहरों जो समीपवर्ती गांव के खेतों के लिए जीवनदायिनी हैं।किसान इन्हीं नहरों के पानी से अपने खेतों में सिंचाई करते हैं। इसमें से एक नहर जो यहां से निकलकर हल्द्वानी के गौला नदी मेंं मिल जाती है।

Bhimatal lake in Bhimatal

महाशिवरात्रि का महापर्व क्यों मनाया जाता हैं ?

टापू 

झील के बीचोबीच ज्वालामुखी की चट्टानों से निर्मित एक अत्यंत सुंदर टापू है।वहां पर हरे भरे पेड़ों के बीच में मत्स्य पालन विभाग की तरफ से एक मछलीघर यानी (Fish Aquarium) बनाया गया है। जिसमें लगभग 71 देशों की मछलियां रखी गई हैं।शीतल जल से लेकर समुद्री जल में मिलने वाली रंग बिरंगी और अलग-अलग प्रजाति की यह मछलियां एक्वेरियम की शोभा बढ़ाती हैं ।

लगभग 33 टैंकों में से 2 टैंकों में सिर्फ समुद्री जल में रहने वाली मछलियों को रखा गया है।एक्वेरियम को बहुत साफ सुथरा रखा जाता है।और सुंदर-सुंदर रोशनी लगाकर इन को आकर्षक ढंग से प्रस्तुत किया गया है।यह एक विश्वस्तरीय एक्वेरियम तो है ही।साथ में पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र व बच्चों के लिए ज्ञानवर्धक भी है।

इस टापू में नौका से जाने का बहुत अच्छा प्रबंध है।सच में यहां से भीमताल एक अलग ही रूप में नजर आता है।पर्यटक यहां पर अपने जीवन के यादगार क्षणों को जीते हैं ।

मुक्तेश्वर (नैनीताल )एक खूबसूरत शानदार हिल स्टेशन जानिए 

Bhimatal Island

कारटोटाका नाग मंदिर

यहां पर नागों के देवता कारटोटाका महाराज का मंदिर है। यहां पर नागपंचमी या ऋषि पंचमी के दिन लोग आकर दर्शन करते हैं।दूध चढ़ाते हैं। तथा नाग देवता का आशीर्वाद लेते हैं।यह मंदिर अपने धार्मिक व सांस्कृतिक धरोहर के लिए भी जाना जाता है।

भीमेश्वर महादेव मंदिर (Bhimatal Bheemeshwar Shiv Temple )

इस मंदिर के बारे में कहा जाता है कि पांडव अपने अज्ञातवास के वक्त इस जगह पर आकर रुके थे।इस जगह पर उन्होंने अपना कुछ वक्त बिताया था। तब पांडु पुत्र भीम ने अपनी शिव भक्ति से इस मंदिर का निर्माण किया। इसीलिए इस मंदिर का नाम भीमेश्वर महादेव मंदिर रखा गया। यह मंदिर आज भी उसी तरह उस धरोहर को संजोए हुए हैं।जिनकी नींव हमारे पूर्वजों ने रखी थी।

भवाली क्यों हैं एक मनमोहक पर्यटक स्थल 

यह लोगों की आस्था का केंद्र है।प्रत्येक दिन यहां पर भक्तगण आकर महादेव के दर्शन कर उनका आशीर्वाद लेते हैं।और विशेष अवसरों जैसे शिवरात्रि पर महादेव की विशेष पूजा अर्चना करते हैं ।

विक्टोरिया बाँँध

भीमताल झील के अंत पर बना हुआ यह बाँँध लोगों के आकर्षण का केंद्र हमेशा ही रहता है।लोग दूर-दूर से इस बाँँध को देखने आते हैं।और पर्यटक इस जगह पर अपना समय बिताना पसंद करते हैं ।यह बहुत लुभावना मनमोहक दिखाई देता है ।

दूरी (Distance)

Bhimatal from Delhi ( दिल्ली से लगभग 316 किलोमीटर )

Bhimatal Nainital Distance (नैनीताल से लगभग 23 किलोमीटर)

Bhimatal Almora Distance (अल्मोड़ा से 64 किलोमीटर )

Bhimatal Nearest Railway Station (भीमताल नजदीकी रेलवे स्टेशन काठगोदाम से 30 किलोमीटर की दूरी पर हैं )

Nearest Airport (भीमताल नजदीकी हवाई अड्डा पंतनगर से 58 किलोमीटर की दूरी पर हैं ) ।

क्यों मनाया जाता हैं करवाचौथ ?

Bhimatal Weather 

भीमताल में गर्मियों में (अप्रैल से जून )अधिकतम तापमान 28 से 30 डिग्री के बीच में रहता है। जबकि जाड़ों में (दिसंबर से फरवरी तक )12 से 15 डिग्री तक या इससे भी कम हो जाता है। गर्मियों में यहां मौसम सुहाना रहता है। सुबह शाम ठंडी हवाओं चलती हैं। जो मैदानी भागों की झुलसाने वाली गर्मी से पर्यटकों को निजात दिलाकर तरोताजा रखती हैं।

घूमने का सही समय

गर्मी की छुट्टियों सबसे उत्तम समय हैं। लेकिन अगर आप बर्फीली सर्दियों या वर्फबारी का आनंद लेना चाहते हैं तो नवंबर से फरवरी के बीच का समय सही हैं। नववर्ष का स्वागत भीमताल में कीजिए। वैसे भीमताल कभी भी आइए भीमताल हमेशा ही स्वागत के लिए तैयार मिलता है।…. क्योंकि इस जगह के हर मौसम में अलग-अलग रंग है ।Bhimatal हैं बेमिसाल। 

कितने दिन के लिए आए-   कम से कम चार- पांच दिन से एक हफ्ता।

भीमताल क्यों आए –  खूबसूरत पहाड़ी पर्यटन स्थल ,प्राकृतिक दृश्य को निहारने के लिए तथा गर्मियों में भी ठंडी व ताज़ी हवाओं का मजा लेने के लिए।

किसके साथ आए-  परिवार के साथ ,दोस्तों के साथ , हनीमून मनाने के लिए या अकेले कुछ दिन एकांत में गुजारना चाहते है।

मनोरंजन के लिए क्या करें – घुड़सवारी, पैराग्लाइडिंग, नौका विहार, खरीददारी, साइकिलिंग आदि।

पिन कोड – 263136

टेलीफोन कोड – +91_05962

भाषा  – हिंदी ,अंग्रेजी, कुमाऊनी (पहाड़ी)।

You are welcome to share your comments.If you like this post then please share it.Thanks for visiting.

यह भी पढ़ें……

नैनीताल एक खूबसूरत पर्यटन स्थल 

कहाँ है Christmas Island ? जानिए इसकी खासियत

असली Santa Claus कौन थे जानिए

मकर संक्रातिं क्यों मनाई जाती है जानिए 

सफीन हसन की प्रेरणादायक कहानी जरूर पढ़ें 

2 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *